The Lion King Movie Review: शानदार विजुअल इफेक्ट, दमदार वॉयस ओवर, लेकिन इमोशनल टच देने में नाकामयाब रही फिल्म

द लायन किंग (The Lion King Movie Review) दर्शकों के सामने लाइव एक्शन के रूप में सामने आ चुकी है। जॉन फेवरोऊ के डायरेक्शन में बनी इस फिल्म में शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) जैसे कलाकार ने वाइस ओवर किया है। बावजूद इसके ये फिल्म अपना जादू चलाने में नाकामयब नजर आ रही है।

Author   |     |     |     |   Updated 
The Lion King Movie Review: शानदार विजुअल इफेक्ट, दमदार वॉयस ओवर, लेकिन इमोशनल टच देने में नाकामयाब रही फिल्म
द लायन किंग लाइव एक्शन के रूप में दर्शकों के सामने आ चुकी है(फोटो:यूट्यूब)

फिल्म: द लायन किंग
कलाकार (वीओ): शाहरुख खान (मुफासा), आर्यन खान (सिम्बा), आशीष विद्यार्थी (स्कार), श्रेयस तलपड़े (टिमोन), संजय मिश्रा (पुंबा), असरानी (ज़ाज़ु), नेहा गर्गवा (नाला), शेरनाज़ पटेल (सरबी) और अचिंत कौर (शेनजी)
म्यूजिक/सिंगर: सुनिधि चौहान और अरमान मलिक
डायरेक्टर: जॉन फेवरोऊ
हिन्दी रश रेटिंग: 3 स्टार

पिछले कुछ वक्त से पुरानी कहानी को नए तरीके से पेश करना डिज्नी की खासियत बन चुकी है। अभी कुछ समय पहले ही आई फिल्म अलादीन इसका जीता-जागता उदाहरण है। इसी तर्ज पर चलते हुए अब डिज्नी की दूसरी फिल्म द लायन किंग भी नजर आ रही है। साल 1994 में आई डिज्नी की एनिमेटेड म्यूजिकल द लायन किंग लाइव एक्शन के रूप में एक बार फिर दर्शकों के सामने आ चुका है।

हालांकि, इस फिल्म को लाइव एक्शन की कैटेगरी में रखना जायज नहीं होगा, क्योंकि इसमें जो जानवर दिखाए गए हैं, वो असली नहीं, बल्कि एनीमेटेड हैं। द लायन किंग का लाइव एक्शन वर्जन शुरू होता है एक गाने सर्किल ऑफ लाइफ से, जो कि बिल्कुल ओरिजिनल एनिमेटेड वर्जन जैसा है। फिल्म की कहानी सीधी, सिंपल और काफी प्रिडक्टेबल है। उसमें कोई खास ट्विस्ट या टर्न नहीं हैं। लेकिन विजुअल इफेक्ट फिल्म में जान डाल देता है।

हॉलीवुड के मशहूर डायरेक्टर
जॉन फेवरोऊ के डायरेक्शन में बनी इस फिल्म को जो चीज सबसे अलग और खास बनाती है वो है जानवारों की आवाज। इसमें शाहरुख खान, आसारानी और संजय मिश्रा जैसे कई फेमस बॉलीवुड सेलिब्रिटी ने अपनी आवाज दी है। इस फिल्म में शाहरुख खान (मुफासा), आर्यन खान (सिम्बा), आशीष विद्यार्थी (स्कार), श्रेयस तलपड़े (टिमोन), संजय मिश्रा (पुंबा), असरानी (ज़ाज़ु), नेहा गर्गवा (नाला), शेरनाज़ पटेल (सरबी) और अचिंत कौर (शेनजी) की आवाज में समां बांध दिया है। जाजू की आवाज में असरानी की आवाज पूरी तरह छाप छोड़ती है।

टिमॉन और पूम्बा का हाकून मटाटा

ओरिजनल वर्जन की तरह इसमें भी टिमॉन और पूम्बा का हाकून मटाटा का बेहतरीन ड्रामा देखने मिलता है। दोनों के अंदाज आपको हंसने पर मजबूर कर देंगे। उनके कैरेक्टर से फिल्म में काफी रफ्तार देखने को मिलेगी। इस फिल्म की सबसे बड़ी खासियत इसके विजुअल इफेक्ट हैं। जिस तरह से जानवरों की हरेक हरकत को दर्शाया गया है वो काबिले तारीफ है। लेकिन इन सबके बाद भी फिल्म में इमोशनल टच नजर नहीं आया।

हिन्दी फिल्मों की तरह है म्यूजिक

मुफासा और सिंबा के बीच इमोशनल मोमेंट भी एकाध ही जगह क्रिएट किए जा सके हैं। जब राफिकी सिम्बा को उठाते हुए राजा घोषित करता है उस वक्त फिल्म के कैरेक्टर पर इमोशन की कमी साफ झलकती है। हालांकि, फिल्म का म्यूजिक कैरेक्टर की आवाज के साथ पूरी तरह मेल खाता है। कई जगह जहां आपको लगेगा कि कैरेक्टर के चेहरे पर हाव-भाव की कमी है, वहां म्यूजिक इस खालीपन को भरने का काम करता नजर आएगा। इसमें हाकून मटाटा और सॉन्ग का सीक्वंस फिल्म में देखना अच्छा अनुभव साबित होगा।

ऐसी है फिल्म की कहानी
फिल्म की कहानी तो बहुत से लोग पहले से ही जानते हैं। जंगल का राजा मुफासा हर किसी की रक्षा करता है। उसकी वजह से जंगल में सुख-शांति बनी हुई है। मुफासा का भाई स्कार उससे जलता है। वह उसे हटाकर जंगल का राजा बनाना चाहता है। मुफासा का बेटा सिम्बा राजगद्दी का असली हकदार और वो ही बड़ा होकर राजा बनेगा ये बात पहले से ही तय है। मुफासा और सिम्बा का रिश्ता बहुत गहरा है। बाप-बेटे एक-दूसरे से बहुत प्यार करते हैं। लेकिन एक हादसे में मुफासा की मौत हो जाती है, जिसके बाद सिम्बा की पूरी दुनिया बदल जाती है।

फिल्म में मजेदार है ये
इस फिल्म में मुफासा की आवाज शाहरुख खान और सिम्बा की उनके बेटे आर्यन खान ने दी है। दोनों की आवाज इन दोनों कैरेक्टर पर बहुत फिट बैठती है। इतना ही नहीं इस फिल्म में रोमांस का तड़का वैसे ही देखने को मिलता है, जैसे शाहरुख खान की फिल्मों में दिखता है। सिम्बा और नाला की प्रेम कहानी हो या फिर सरबी और मुफासा का प्यार, दोनों में रोमांस भरपूर नजर आता है। इसके अलावा सबसे मजेदार किरदार है टिमोन और पुंबा का। दोनों के कैरेक्टर ने गजब का समां बांधा है, उपर से संजय मिश्रा और श्रेयस तलपड़े की आवाज ने चार चांद लगा दिया है।

पैसा वसूल है या नहीं
देखिए यदि आप 90 के दशक में पैदा हुए हैं। आपने कॉमिक्स खूब पढ़ी हो। आपको ऐसे कैरेक्टर में मजा आता हो। तो ये फिल्म आपके लिए है। इसे देखकर आप अपने बचपन में चले जाएंगे। कुछ उसी तरह का फील करेंगे। हां, यदि आपने डिज्नी के नाम पर कुछ ज्यादा सोच लिया है या फिर द जंगल बुक जैसी ऑडियंस से वेल कनेक्टेड फिल्म देखने की इच्छा है, तो आपको थोड़ी सी निराशा होगी। अपने बच्चों के साथ आप इस फिल्म को एक बार जरूर देख सकते हैं। वैसे ये कहना गलत नहीं होगा कि ये फिल्म आज की पीढ़ी को लुभाने में कामयाब होगी। बॉक्स ऑफिस पर भी सफल साबित होगी।

जानिए इस फिल्म को देखने की 5 बड़ी वजह…

देखिए द लॉयन किंग फिल्म के हिंदी टीजर में शाहरुख खान की पहली झलक…

Exclusive News, TV News और Bhojpuri News in Hindi के लिए देखें HindiRush । देश और दुन‍िया की सभी खबरों की ताजा अपडेट के ल‍िए जुड़िए हमारे FACEBOOK पेज से ।

Story Author: मुकेश कुमार गजेंद्र

मुकेश कुमार गजेंद्र
प्रिंट, टीवी और डिजिटल मीडिया में कार्य करने का समान अनुभव। सियासत, सिनेमा और समाज के बीच कुछ नया गुनने, बुनने और गढ़ने की कोशिश जारी। फिलहाल हिन्दी रश डॉट कॉम में बतौर संपादक कार्यरत।

mukesh.kumar@hindirush.com     +91 9004241611
601, ड्यूरोलाइट हाउस, न्यू लिंक रोड, अंधेरी वेस्ट,मुंबई, महाराष्ट्र, इंडिया- 400053
Tags: , , ,

Leave a Reply