Uri Attack: भारतीय सेना ने PoK में घुसकर आतंकियों को उतारा मौत के घाट, ऐसे लिया जवानों की शहादत का बदला!

दर्दनाक घटना के महज दस दिन के अंदर ही भारतीय सेना की ओर से जवानों की शहादत का बदला सर्जिकल स्ट्राइक (Surgical Strike) से लिया गया. भारतीय सेना की तरफ से एक स्पेशल टीम ने पीओके (PoK) में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक (Surgical Strike) कर भारतीय जवानों की शहादत का बदला लिया.

  |     |     |     |   Updated 
Uri Attack: भारतीय सेना ने PoK में घुसकर आतंकियों को उतारा मौत के घाट, ऐसे लिया जवानों की शहादत का बदला!

Uri Attack: आज से छह साल पहले आज ही के दिन भारतीय सेना को पिछले सात दशकों में जम्मू-कश्मीर में हुए सबसे बड़े दर्दनाक हादसे का सामना करना पड़ा था. 18 सितंबर, 2016 की तड़के, चार भारी हथियारों से लैस जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों ने LOC की सीमा पार कर जम्मू-कश्मीर के उरी शहर में एक भारी सुरक्षा वाले भारतीय सेना (Indian Army) के हेडक्वार्टर पर कायराना हमला कर दिया था. जैश-ए-मोहम्मद द्वारा किए गए इस हमले में 18 जवान शहीद हो गए थे.


वहीं इस दर्दनाक घटना के महज दस दिन के अंदर ही भारतीय सेना की ओर से जवानों की शहादत का बदला सर्जिकल स्ट्राइक (Surgical Strike) से लिया गया. भारतीय सेना की तरफ से एक स्पेशल टीम ने पीओके (PoK) में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक (Surgical Strike) भारतीय जवानों की शहादत का बदला लिया. इसके अलावा सेना की तरफ से किये गए सर्जिकल स्ट्राइक (Surgical Strike) में कई आतंकवादियों को मौत के घाट उतार दिया गया. आज हम आपको बताएंगे कि कैसे इस स्ट्राइक को किया गया था. यह भी पढ़े: Raju Srivastava Health Update: राजू श्रीवास्तव की सेहत में हुआ सुधार, भाई दीपू श्रीवास्तव ने दी ये जानकारी!

ऐसे बनी योजना :

भारतीय सैनिक अपने साथियों को खोने के दर्द में थे तो साथ ही आतंकवादियों के खिलाफ सीने में एक अलग आग भी धधक रही थी. इस दौरान 18 सितंबर 2016 को हुए आतंकी हमले के बाद भारतीय सेना ने जवाब में 28-29 सितंबर की रात करीब 10 बजे पीओके (PoK) में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक की. सैनिकों द्वारा अपना मिशन शुरू करने से पहले लॉन्चपैड पर स्नाइपर्स इकट्ठा किए गए. वहीं भारतीय सेना ने 24 सितंबर को अपने स्पेशल बलों के दस्ते का निर्माण शुरू किया, जो नाइट-विज़न डिवाइस, टैवर 21 और एके -47 असॉल्ट राइफलों से लैस था.


वे रॉकेट से चलने वाले ग्रेनेड, कंधे से मारने वाली मिसाइल, पिस्तौल, उच्च विस्फोटक ग्रेनेड और प्लास्टिक विस्फोटक से भी लैस थे. 28-29 सितंबर की रात में तड़के इस ऑपरेशन को पूरा करने के बाद भारतीय सेना वापस लौटी. इस हमले में पाकिस्तान के लगभग 38 आतंकवादियों को मार गिराया गया था. वहीं दो साल बाद साल 2018 में केंद्र सरकार ने जवानों की वीरता का सम्मान करते हुए इसे ‘सर्जिकल स्ट्राइक डे’ (Surgical Strike) का नाम दिया. इस नाम को सरकार ने 28 सितंबर को सैनिकों की वीरता के सम्मान में चिह्नित किया था.

यह भी पढ़े: सामंथा प्रभु करेंगी बॉलीवुड में धमाकेदार एंट्री, दिनेश विजान की ‘हॉरर कॉमेडी’ में आयेंगी इस एक्टर के साथ नजर

बॉलीवुड और टीवी की अन्य खबरों के लिए क्लिक करें: 

Exclusive News, TV News और Bhojpuri News in Hindi के लिए देखें HindiRush । देश और दुन‍िया की सभी खबरों की ताजा अपडेट के ल‍िए जुड़िए हमारे FACEBOOK पेज से ।

Story Author: Shikha Trivedi



    +91 9004241611
601, ड्यूरोलाइट हाउस, न्यू लिंक रोड, अंधेरी वेस्ट,मुंबई, महाराष्ट्र, इंडिया- 400053
    Tags: , , , , ,

    Leave a Reply