क्रिकेटर एस. श्रीसंत को सुप्रीम कोर्ट से मिली बड़ी राहत, हटाया लाइफ बैन, अब बीसीसीआई लेगी फैसला

सुप्रीम कोर्ट से शुक्रवार को क्रिकेटर एस. श्रीसंत के लिए राहत की बड़ी खबर आई। शीर्ष अदालत ने श्रीसंत पर लगा आजीवन प्रतिबंध निरस्त कर दिया। कोर्ट ने बीसीसीआई से इस मामले में तीन महीने में फैसला लेने को कहा है।

Cricketer S Sreesanth Spot Fixing Case Supreme Court BCCI Cricket
स्पॉट फिक्सिंग में नाम आने के बाद बीसीसीआई ने श्रीसंत पर लाइफटाइम बैन लगा दिया था। (फोटो- इंस्टाग्राम)

भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी रहे तेज गेंदबाज एस. श्रीसंत पर फिक्सिंग के आरोप लग चुके हैं। आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग में नाम आने के बाद ‘बोर्ड ऑफ कंट्रोल फॉर क्रिकेट इन इंडिया’ (बीसीसीआई) ने श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया था। इसके खिलाफ श्रीसंत ने कानूनी लड़ाई लड़ने का मन बनाया और शुक्रवार को उनके लिए सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत की खबर आई। शीर्ष अदालत ने श्रीसंत पर लगा लाइफ बैन हटा दिया है। अदालत ने इस मामले में अब बीसीसीआई को तीन महीने के भीतर फैसला लेने को कहा है। श्रीसंत को भारतीय क्रिकेट टीम में शामिल किया जाएगा कि नहीं, यह फैसला अब बीसीसीआई को लेना है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, एस. श्रीसंत पर लगे लाइफटाइम बैन पर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने कहा, ‘एस. श्रीसंत को दी गई सजा ज्यादा है। बीसीसीआई उनकी सजा पर फिर से विचार करे और 3 महीने के भीतर इस पर फैसला ले।’ अदालत ने श्रीसंत की उस टिप्पणी पर भी अपनी बात रखी जिसमें क्रिकेटर ने कहा था कि बीसीसीआई को उसे सजा सुनाने का अधिकार नहीं है। कोर्ट ने कहा, ‘श्रीसंत का ये कहना बिल्कुल गलत है। बोर्ड को क्रिकेट और क्रिकेटरों से जुड़े किसी भी मामले में अनुशासनात्मक कार्रवाई करने का पूरा अधिकार होता है।’

‘सुप्रीम कोर्ट ने मुझे जीवनदान दिया’

शीर्ष अदालत के फैसले पर खुशी जताते हुए एस. श्रीसंत ने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट ने आज मुझे एक जीवनदान दिया है। मुझे लगता है कि कोर्ट के इस फैसले से मैं अपना खोया हुआ सम्मान हासिल कर पाऊंगा। मैंने प्रैक्टिस करनी शुरू कर दी है। आशा है मैं जल्द ही क्रिकेट खेलूंगा। मैंने इसके लिए बहुत लंबा इंतजार किया है। 6 साल हो गए हैं। मैं बीसीसीआई से आग्रह करता हूं कि मेरे केस में किसी नतीजे पर पहुंचने के लिए तीन महीने का समय न लें। मैं जल्द से जल्द खेल के मैदान पर पूरे सम्मान के साथ वापसी करना चाहता हूं।’

क्या था मामला?

साल 2013 में एस. श्रीसंत, अजीत चंदेला और अंकित चौहान आईपीएल की टीम राजस्थान रॉयल्स का हिस्सा थे। उसी साल श्रीसंत पर स्पॉट फिक्सिंग के गंभीर आरोप लगे थे। जिसके बाद बीसीसीआई ने श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया था। इतना ही नहीं, राजस्थान रॉयल्स और चेन्नई सुपरकिंग्स को दो साल के लिए बैन कर दिया गया था। श्रीसंत ने बोर्ड के लाइफटाइम बैन के फैसले के खिलाफ केरल हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। हाईकोर्ट ने बीसीसीआई के फैसले को बरकरार रखा था। जिसके बाद श्रीसंत सुप्रीम कोर्ट की शरण में पहुंचे और फैसले को चुनौती दी और शुक्रवार को उनके लिए अदालत से राहत की खबर आई। बताते चलें कि श्रीसंत पिछले साल रियलिटी शो ‘बिग बॉस’ में भी नजर आए थे।

बेटी संविका से बेहद प्यार करते हैं एस. श्रीसंत, देखिए यह वीडियो…

Leave a Reply