संजय दत्त की लाइफ के अनसुने किस्से!

July 28, 2020

संजय दत्त मात्र 9 साल के थे तब उन्होंने अपनी लाइफ की पहली सिगरेट पी थी। ऐशट्रे में आधी पड़ी सिगरेट को जला कर संजय दत्त ने पीना शुरु कर दिया।

संजय दत्त अपनी मां नरगिस के पेट में थे तब पिता सुनील दत्त और मां ने रेडियो पर एक ऐड दिया जिसमें लोगों से बच्चों के नाम का सुझाव मांगा। जिसमें संजय नाम का सुझाव भी आया। नरगिस को ये नाम बहुत पसंद आया।

'नाम' फिल्म में संजय दत्त के अभिनय से अमिताभ बहुत प्रभावित हुए। जिसके बाद अमिताभ ने कुमार गौरव और संजय दोनों को अपने घर पर डिनर के लिए बुलाया और सोने की चेन उपहार में दी।

सलमान संजय दत्त के बड़े फैन रहे हैं। नब्बे के दशक में सलमान ने संजय वाली हेअर स्टाइल भी रखी थी। संजय दत्त ने ही सलमान को जिम जाने के लिए प्रेरित किया।

संजय को नशे की आदत छोटी उम्र में ही लग गई थी। एक बार हेरोइन का नशा करके वह सो गए। जब भूख से उनकी नींद खुली तो पास बैठा नौकर रोने लगा। संजय ने हैरान होकर पूछा कि रो क्यों रहा है तो उसने बताया आप 2 दिन के बाद उठे हैं।

संजय दत्त जेल में थे तब उन्हें पेपर बैग बनाने का काम दिया गया था, जिसके लिए उन्हें रोज़ 50 रुपये मिला करते थे। जेल में रहकर उन्होंने 30 हजार रुपये से ज्यादा की कमाई की थी।

संजय दूत को बहन प्रिया दत्त जेल में राखी बांधने गई। संजू बाबा ने दो टाइम का खाना ना खाकर जेल के खाने वाले कूपन बचा लिए और जब प्रिया राखी बांधने आईं तो उन्हें वो कूपन गिफ्ट के तौर पे दिए।

संजय दत्त फिल्म 'संजू' में सुनील दत्त का रोल खुद करना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने डायरेक्टर राजू हिरानी से रिक्वेस्ट किया कि उन्हें ये रोल करने दिया जाए, लेकिन राजू ने साफ़ मना कर दिया।

संजय दत्त एक अच्छे सिंगर हैं और बहुत अच्छा गिटार भी बजाते हैं। यूएएस के एक कॉन्सर्ट में उन्हें ‘बेस्ट एयर गिटारिस्ट’ के लिए गोल्ड मेडल भी मिला था।

सुनील दत्त और संजय दत्त के बीच पिता और बेटे का रिश्ता होने के बाद भी दोनों में हमेशा टकराव ही रहता था। मां नरगिस के देहांत के बाद दोनों एक दूसरे के करीब आए थे।

बॉलीवुड से लेकर टीवी जगत की ऐसी ही मजेदार और चटपटी खबरों को जानने के लिए यहाँ क्लिक करें!

Click Here