उरी फिल्म रिव्यू: सियासत, सेना और सर्जिकल स्ट्राइक के बीच दिखी फिल्म की रोंगटे खड़े कर देने वाली कहानी

2016 सर्जिकल स्ट्राइक (Surgical Strike) सेना के द्वारा किया जानेवाला एक खास तरीके का हमला था। 2016 में उरी (Uri) में सेना के ब्रिगेड मुख्यालय पर घातक आतंकवादी ( Terrorist) हमले के 10 दिनों बाद इसका आयोजन किया गया था

उरी फिल्म में विक्की कौशल का जलवा

फिल्म का नाम- उरी
निर्देशक- आदित्य धर
स्टार कास्ट- विक्की कौशल, मोहित रैना, कीर्ति कुल्हारी, यामी गौतम और परेश रावल
अवधि- 1 घंटा 32 मिनट
रेटिंग- 3/5 स्टार

2016 सर्जिकल स्ट्राइक सेना के द्वारा किया जानेवाला एक खास तरीके का हमला था। 2016 में उरीमें सेना के ब्रिगेड मुख्यालय पर घातक आतंकवादी हमले के 10 दिनों बाद इसका आयोजन किया गया था, जिसमें 19 जवान शहीद हुए थे और लगभग 80-100 लोग घायल हुए थे।ये इतिहास के प्ननों में दर्ज हुआ एक बड़ा अभियान रहा है। आदित्य धर द्वारा निर्देशित और लिखित उरी द सर्जिकल स्ट्राइक के चार अध्याय हैं, जिनमें से हर एक महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक सर्जिकल स्ट्राइक के लिए जरूरी है, जो भारतीय सेना द्वारा आयोजित किया गया था।

सच्ची घटनाओं पर आधारित इस कहानी में विक्की कौशल, मोहित रैना, कीर्ति कुल्हारी, यामी गौतम और परेश रावल ने मुख्य भूमिकाएँ निभाई हैं। विक्की कौशल ने मेजर विवान सिंह शेरगिल की भूमिका निभाई है, जिन्होंने नागालैंड आतंकवादियों को खत्म करने के लिए जिम्मेदार सैनिकों की टीम का भी नेतृत्व किया था। उन्हें सेकंड इन कमांड का समर्थन प्राप्त है। वहीं, मोहित रैना द्वारा करण कश्यप का किरदार निभाया गया है।

उरी हमले के फौरन बाद इस घटना से उन सैनिकों के बीच नफरत बढ़ जाती है जो अपने भाइयों के लिए विश्वासघात और अपशब्दों से हार जाते हैं, जिन्हें पाकिस्तानी आतंकवादियों ने मार दिया था। धोखा दिया गया क्योंकि भारतीय सेना और भारत सरकार के बीच हमेशा से एक आम भावना रही है कि भारत पर कई आतंकवादी हमलों के बाद भी पाकिस्तान के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

फिल्म का पहला भाग तीन अध्यायों की खोज करता है, कम शब्दों में बोलते तो ये सैन्य अभियानों से अधिक सैनिकों के भावनात्मक एहसास पर ध्यान केंद्रित करता है। विक्की कौशल अब तक अपनी एक्टिंग में महान साबित हुए हैं और पहले भाग को अच्छा बनाने में बेहतरीन साबित रहें। वहीं, मोहित (मेजर करण) ने बॉलीवुड में एक शानदार शुरुआत की है। पहले भाग भावनाओं से भरा हुआ था। फिल्म में एक सीन दिखाया गया जहां एक छोटी लड़की अपने पिता के अंतिम संस्कार में अपने पिता को श्रद्धांजलि अर्पित करती है, जोर-जोर से चिल्लाकर अपनी बटालियन का नारा देती है जोकि यकीनन आपके रोंगटे खड़ा कर देगा।

यहां देखिए फिल्म का पोस्टर…

दूसरी भाग कम या ज्यादा सर्जिकल स्ट्राइक की तैयारियों और स्थितियों को कवर करता है। ऐसा हिस्सा जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री राजनाथ सिंह और तत्कालीन रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर को भी दर्शाया गया था, जबकि पूरे ऑपरेशन के पीछे मास्टरमाइंड परेश रावल को दिखाया गया था, जो राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार की भुमिका निभा रहे थे। रावल ने हमेशा की तरह अपने हिस्से को सही तरीके से निभाया है। जबकि यामिनी ने इस फिल्म में इंटेलिजेंस ऑफिसर का किरदार निभाया है। वहीं, कीर्ति कुल्हारी ने भारतीय वायु सेना की अधिकारी सेमत कौर की भूमिका निभाई है, जो पूरे ऑपरेशन में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती है, लेकिन सर्वश्रेष्ठ टीम चुनने का पूरा क्रम किसी भी तरह से एक दूसरे से जुड़ा हुआ दिखाई नहीं दिया है और यह तर्क से ज्यादा भावनाओं से भरा हुआ रह।

दूसरे हाफ तक आते-आते विक्की आखिरी 20-25 मिनट में शानदार तरीके से ऊपर उठते हुए नजर आएं। इन अंतिम कुछ मिनटों में सरकार, इंटेलिजेंस के साथ-साथ विवान (विक्की) के नेतृत्व वाली टीम के कई शानदार मूवमेंट दिखाए गए थे। उन सीन्स ने आखिरकार मन के अदंर कुछ देशभक्ति की भावनाएं पैदा करने में कामयाबी हासिल की। वहीं, कुछ सीन के अंदर सिनेमैटोग्राफी कच्ची और शीर्ष पायदान पर नजर आई है। जवानों का फुटवर्क अच्छी तरह से शूट किया गया है। हालाँकि, स्क्रीन प्ले एक बड़ी खामी रही यह आपको पूरी तरह से पकड़कर नहीं रख पाएगी । निर्देशक आदित्य धर को बॉडी लैंग्वेज और सैन्य अभियानों की तकनीकी का अध्ययन करने में शायद थोड़ा और समय लगाना चाहिए था, क्योंकि फिल्म पूरी तरह से इंडियन आर्मी पर आधारित है।

2016 का सर्जिकल स्ट्राइक भारत सरकार के लिए एक बड़ी उपलब्धि रही है। सर्जिकल स्ट्राइक विवादास्पद और राजनीतिक रूप से घिरी रही थी। विरोधी दल के नेता राहुल गांधी ने भारतीय सेना और ऑपरेशन के पूरे आधार पर सवाल उठाए थे। सर्जिकल स्ट्राइक भारतीय और पाकिस्तान के बीच हाल के दिनों में सबसे ज्यादा चर्चित घटनाओं में से एक भारत के साथ-साथ अंतर्राष्ट्रीय समाचार के लिए भी। सर्जिकल स्ट्राइक को 2 वर्षों के लिए गुप्त फाइलों के अंदर रखा गया था, जिसके कोई भी डिटेल भारतीय नागरिकों के सामने नहीं आई थी। ऐसे में आप एक बार मूवी को देखने के लिए जा सकते हैं।

यहां देखिए उरी फिल्म का ट्रेलर…

Leave a Reply