Kedarnath Trailer Review: मजहब-मोहब्बत से लेकर प्रलय तक का बेजोड़ कनेक्शन, कहां है लव जिहाद?

फिल्म केदारनाथ के पोस्टर-टीजर के साथ ही विवादों का सफर शुरू हो गया था। और इसी उठापटक के बीच आज ट्रेलर भी लांच कर दिया गया। ये टूरिज्म माफियाओं की कहानी है।

Author   |     |     |     |   Updated 
Kedarnath Trailer Review: मजहब-मोहब्बत से लेकर प्रलय तक का बेजोड़ कनेक्शन, कहां है लव जिहाद?

फिल्म केदारनाथ (Kedarnath Trailer) के पोस्टर और टीजर के साथ ही विवादों का सफर शुरू हो गया था। और इसी उठापटक के बीच आज ट्रेलर भी लांच कर दिया गया। टूरिज्म माफियाओं के साथ ही फिल्म के ट्रेलर शुरू होता है। पहले ही सीन में दिखाया जा रहा है कि वे किस तरह हम अपने स्वार्थ के लिए केदारनाथ को जोखिम में डाल रहे हैं। हो ना हो प्रलय का एक कारण यह हो सकता है। सुशांत सिंह राजपूत की आवाज सबसे पहले केदारनाथ के बचाव में उठती दिख रही है लेकिन मुस्लिम समुदाय से होने के कारण उनको हटाने की कोशिश पाखंड की पोल खोल रही है। ट्रेलर की कहानी आगे बढ़ती और हमें 2013 को वो दर्दनाक मंजर दिखता है। लेकिन सारा अली खान व सुशांत सिंह राजपूत का रोमांस थोड़ा राहत देने का काम किया है।

फिल्म के ट्रेलर में में एक बात तो साफ तौर दिखाया गया है कि होने वाली आपदाओं के लिए हम खुद जिम्मेदार हैं। केदारनाथ जैसे पहाड़ी इलाके पर पर्यटकों के बढ़ते बोझ को दिखाया गया है। कैसे होटल आदि खोलने के लिए सुरक्षा को दाव पर रखा जा रहा है। सुशांत सिंह राजपूत इसके खिलाफ आवाज उठाते हैं तो उनको कहा जाता है, ‘तुम कौन हो, कहां से आ गए हो हमारे बीच?’ लेकिन उनको दरकिनार कर दिया जाता है। लेकिन सुशांत कहते हैं ये हमारी-आपकी बात नहीं बल्कि पूरे केदारनाथ की बात है। मतलब एक प्रकार से माफिया को रोकने के लिए वह आगे आते हैं। मोहब्बत और मजहब की मिक्सचर है पूरी ट्रेलर।

मजहब और मोहब्बत
मंदिर के बाद सारा अली खान हाथ जोड़े पूजा-अर्चना करते हुए दिखाई देती हैं। साला क्रिकेट देखती हैं तभी कोई इंडियन बल्लेबाज आउट हो जाता है और वह गाली बकती हैं। इस पर उनकी मां टोकती हैं लेकिन आज के मॉडर्न बच्चों की तरह चालाकी से कहती हैं, ‘तेरी मां की आरती…’। इसके बाद सुशांत सारा को खच्चर पर लेकर पहाड़ी जाते दिख रहे हैं। यहां पर ट्रेलर में पहली मुलाकात होते दिखाया गया है। यहीं पर दोनों एक-दूसरे को जान पाते हैं। दो खूबसुरत कपल और सुंदर वादी का नजारा बेहद प्यारा दिख रहा है। फिर इसके बाद मिलना-जुलना शुरू होता है।

दो सेकेंड का किस और विवाद
ट्रेलर में पहली मुलाकात के बाद केदारनाथ की असल कहानी शुरू होती है। सुशांत सिंह राजपूत और सारा अली खान के प्यार को दिखाया गया है। जिसमें सारा के घर वाले कहते हैं कि ये संगम प्रलय तक संभव नहीं है। इस पर सारा कहती हैं कि सारी उमर जाप ही करूंगी। इसके साथ-साथ बाढ़ का भयावह मंजर दिखाया गया है। एक तरफ प्राकृतिक आपदा और दूसरी ओर मोहब्बत यहां पर डायरेक्टर ने आपदा और मोहब्बत की मुश्किलों को दिखा कर एक संदेश देने की कोशिश की है। वैसे प्राकृति आपदा के साथ इसका कनेक्शन करना लोगों को पसंद आएगा। जो लोग विवाद कर रहे हैं उनको ये सीन दिल की गहराईयों से देखनी चाहिए। बामुश्किल ट्रेलर में दो सेकेंड का किसिंग सीन है। इसके लिए बैन की मांग करना कितना सही है।

केदारनाथ और टेक्नोलॉजी
रोमांस सीन से पहले प्रकृति की सुंदरता और केदारनाथ की खूबियों को दिखाया गया है। ट्रेलर में केदरानाथ की कल-कल बहती नदी की धार दिखाई देती है। सुंदर पहाड़ी पर सुशांत सिंह भक्तों को ले जाते दिख रहे हैं। ये नजारा हमें केदारनाथ की सुंदरता का अहसास कराता है। यहां पर भोलेनाथ के जयकारे और घंटियों की आवाज केदारनाथ मंदिर में प्रवेश करा देती हैं। आस्था को ठेस पहुंचाने वाली कोई बात नहीं दिखाई दे रही है बल्कि केदरानाथ की गरिमा का पूरा ख्याल रखा गया है। हालांकि इस बात को निर्देशक अभिषेक कपूर ने खुद भी आज कहा है। लेकिन 2013 के हादसे को दिखाने के लिए टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया है जो कि हमें डराने का काम कर रहा है।

यहां देखें पूरा ट्रेलर…

Exclusive News, TV News और Bhojpuri News in Hindi के लिए देखें HindiRush । देश और दुन‍िया की सभी खबरों की ताजा अपडेट के ल‍िए जुड़िए हमारे FACEBOOK पेज से ।

Story Author: रवि गुप्ता

रवि गुप्ता
पत्रकार, परिंदा ही तो है. जैसे मैं जन्मजात बिहारी, लेकिन घाट-घाट ठिकाने बनाते रहता हूं. साहित्य-मनोरंजन के सागर में गोते लगाना, खबर लिखना दिली तमन्ना है जो अब मेरी रोजी रोटी है. राजनीति तो रग-रग में है.

ravi.gupta@hindirush.com     +91 9004241611
601, ड्यूरोलाइट हाउस, न्यू लिंक रोड, अंधेरी वेस्ट,मुंबई, महाराष्ट्र, इंडिया- 400053
Tags: , , ,

Leave a Reply