गल्ली बॉय मूवी रिव्यूः रणवीर सिंह के फर्श से अर्श तक के सफर की असली कहानी बयां करती है जोया अख्तर की फिल्म

फिल्म गल्ली बॉय आज सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है। फिल्म में रणवीर सिंह के अर्श से फर्श तक की कहानी को बताया गया है। रणवीर सिंह यानि मुराद मुंबई स्क्वायर बॉक्स हाउस में रहने वाले सितारों के सपने देखते हैं।

Author   |     |     |     |   Updated 
गल्ली बॉय मूवी रिव्यूः रणवीर सिंह के फर्श से अर्श तक के सफर की असली कहानी बयां करती है जोया अख्तर की फिल्म
फिल्म गल्ली बॉय का एक पोस्टर। (साभारः इंस्टाग्राम)

फिल्म- गल्ली बॉय
गल्ली बॉय डायरेक्टरः जोया अख्तर
गल्ली बॉय कास्टः रणवीर सिंह, आलिया भट्ट, सिद्धांत चतुर्वेदी, कल्की कोचलीन
गल्ली बॉय स्टारः 4/5

जोया अख्तर की फिल्म ‘गल्ली बॉय’ एक लड़के मुराद (रणवीर सिंह) की लाइफ की कहानी है। मुराद  मुंबई के स्क्वायर बॉक्स हाउस में रहने वाले सितारों के सपने देखता है। मुंबई की स्लम में पैदा हुआ मुराद बढ़ता है तो अपने गली रैपरों को गाते हुए देखता है। वह बहुत सिगरेट पीता है लेकिन शराब नहीं। वह बहुत ही मासूम होता है और स्टार बनना चाहता है लेकिन अपना घर नहीं छोड़ना चाहता। मुराद रैपर बनना चाहता है और इसकी वजह से उसके परिवार में टेंशन होने लगती है और वह घर से भाग से जाता है।

सैफीना (आलिया भट्ट) का फिल्म में मुराद के साथ सिक्रेट रिलेशनशिप दिखाया गया है।सैफीना की लाइफ में टेंशन कम नहीं है। सिर्फ मुराद के साथ ही उसे रोज की टेंशन से राहत मिलती है। लेकिन मुराद और सैफीना दोनों प्यार भी करते हैं और आपस में मारपीट भी करते हैं। दोनों गुपचुप मिलते हैं, रोमांस करते हैं। मुराद जब एमसी शेर(सिद्धांत चतुर्वेदी ) से मिलता है तब उसका वक्त बदल जाता है। एमसी शेर उसे आगे बढ़ने यानि ‘चीर फाड़’ रैपर बनने के लिए बोलता है और स्काई यानि कल्कि कोचलीन से मिलवाता है।

रणवीर सिंह की सबसे शानदार एक्टिंग

फिल्म में रणवीर सिंह शुरू से ही मुराद के रोल में फिट बैठते हैं। आप उनकी रैपिंग और एक्टिंग की बारीकियों पर कंट्रोल देखकर हैरान रह जाएंगे। फिल्म में आलिया भट्ट, रणवीर सिंह के रैपिंग के प्रति पागलपन या दीवानगी और बढ़ा देती हैं। आलिया रणवीर को इतना उकसा देती हैं कि वह आग में कपूर डालने वाला का काम करती हैं। सिद्धान्त चतुर्वेदी भी लोकल रैप स्टार के रूप में हर सीन में दिखाई देते हैं।

समाज में क्लास डिफ्रेंस पर चोट

जोया अख्तर और रीमा कागती ने अपनी स्क्रिप्ट में गलियों सच्चाई बयां की है। फिल्म में कई सीन को (एमिनेम के 8 माइल) रीयल लाइफ से लिया गया है। इस  स्क्रिप्ट में विजय मौर्या ने डायलॉग लिखा है, जिस पर ऑडियंस तालियां बजाती दिखेंगी। जोया अख्तर ने वो किया जो बॉलीवुड का कोई भी व्यक्ति नहीं कर सकता। उनकी फिल्में समाज पर चोट करती है। उनकी फिल्में क्लास डिफ्रेंस, पॉलिटिकल डिप्राइव्ड और अल्पसंख्यकों पर आधारित होती हैं।

शानदार सिनेमैटोग्राफी 

फिल्म के सिनेमैटोग्राफी बहुत ही शानदार हुई। जय ओझा ने इस पर शानदार का काम किया है। फिल्म में म्यूजिक आर्टिस्ट और रैपर्स के बिना योगदान के फिल्म सफल नहीं हो सकती है। मुराद की पूरी कहानी जानने के लिए आपको सिनेमाघरों का रुख करना होगा। मुराद ने इस फिल्म में अब तक का सबसे अच्छा परफॉर्मेंस दिया है। फाइनली रणवीर सिंह और आलिया भट्ट का टाइम आ गया, अब आपकी बारी है।

यहां देखिए गल्ली बॉय का ट्रेलर…

Story Author: रमेश कुमार

रमेश कुमार
जाकिर हुसैन कॉलेज (डीयू) से बीए (हॉनर्स) पॉलिटिकल साइंस में डिग्री लेने के बाद रामजस कॉलेज में दाखिला लिया और डिपार्टमेंट ऑफ पॉलिटकल साइंस में पढ़ाई की। इसके बाद आईआईएमसी दिल्ली।

ramesh.kumar@hidirush.com     +91 9013770765
601, ड्यूरोलाइट हाउस, न्यू लिंक रोड, अंधेरी वेस्ट,मुंबई, महाराष्ट्र, इंडिया- 400053
Tags: , , ,

Leave a Reply