Bhaiaji Superhit Film Review: कमजोर कहानी और डायरेक्शन देख, सिनेमाघर में उबासी लेने पर हो जाएंगे मजबूर

पिछले 7 सालों से बन रही सनी द्ओल की फिल्म भैयाजी सुपरहिट आखिरकार सिनेमाघरो में आ गई है। इसमें कई सितारों ने हिस्सा लिया है...

Author   |     |     |     |   Updated 
Bhaiaji Superhit Film Review: कमजोर कहानी और डायरेक्शन देख, सिनेमाघर में उबासी लेने पर हो जाएंगे मजबूर

कलाकार- सनी देओल, प्रीति जिंटा, अरशद वारसी, श्रेयस तलपडे, संजय मिश्रा, अमीषा पटेल, जयदीप अहलावत

निर्देशक- नीरज पाठक

फिल्म टाइप- ड्रामा

पिछले 7 सालों से बन रही सनी द्ओल की फिल्म भैयाजी सुपरहिट आखिरकार सिनेमाघरो में आ गई है। इसमें कई सितारों ने हिस्सा लिया है। प्रीति जिंटा, अरशद वारसी, श्रेयस तलपडे, संजय मिश्रा फिल्म में नजर आएंगे। इस फिल्म को नीरज पाठक के डायरेक्शन में बनाया गया है।

फिल्म की कहानी शुरू होती है दबंग भैयाजी (सनी देओल) से। दबंग भैया जी अपनी पत्नी सपना दुबे से बेहद प्यार करते हैं। इन दोनों के रिश्ते में दरार आ जाती है। इसी के चलते सपना घर छोड़कर चली जाती हैं। भैया जी पत्नी को घर वापस लाने के लिए खूब सारे उपाय करते हैं। फिल्म में राइटर तरुण पोर्नो घोष (श्रेयस तलपडे) डॉक्टर ज्ञान प्रकाश बुद्धिसागर (संजय मिश्रा) बिल्डर गुप्ता (पंकज त्रिपाठी) और अभिनेत्री मल्लिका (अमीषा पटेल) की एंट्री होती है।

इस दौरान भईया जी एक और परेशानी में फंस जाते हैं। उनके एक दुश्मन काफी सालों से होता है। जो भैया जी के लिए जाल बिछाना शुरू करता है। अब देखना ये है कि भैयाजी के जिंदगी में सपना की वापसी होती है या नहीं साथ ही भैया जी के साथ उनके दुश्मन की दुश्मनी का अंजाम क्या होता है। इसके लिए आपको देखनी होगी फिल्म।

फिल्म की कहानी और डायरेक्शन काफी कमजोर है और स्क्रीनप्ले के साथ साथ सिनेमैटोग्राफी भी ढीली है। फिल्म का क्लाइमैक्स तो काफी बोर करता है बताते चलें कि फिल्म का बजट 30 करोड़ बताया जा रहा है। सनी देओल की इस फिल्म को यूपी में 200 से ज्यादा स्क्रीन पर रिलीज हुई तो दिल्ली के 98 फीसदी सिनेमाघरों में इस फिल्म ने दस्तक दी है।

वेल आपका सनी देयोल की इस फिल्म के बारें में क्या कहना है हमें नीचे कमेंट्स करके जरूर बताएं

देखिए फिल्म को लेकर सोशल मीडिया रिएक्शन…

Exclusive News, TV News और Bhojpuri News in Hindi के लिए देखें HindiRush । देश और दुन‍िया की सभी खबरों की ताजा अपडेट के ल‍िए जुड़िए हमारे FACEBOOK पेज से ।

Story Author: कविता सिंह

कविता सिंह
विवाह के लिए 36 गुण होते हैं, ऐसा फ़िल्मों में दिखाते हैं, पर लिखने के लिए 36 गुण भी कम हैं। पर लेखन के लिए थोड़े बहुत गुण तो है हीं। बाकी उम्र के साथ-साथ आ जायेंगे।

kavita.singh@hindirush.com     +91 9004241611
601, ड्यूरोलाइट हाउस, न्यू लिंक रोड, अंधेरी वेस्ट,मुंबई, महाराष्ट्र, इंडिया- 400053
Tags:

Leave a Reply