Yash Johar Birth Anniversary: निर्माता बनने पहले मिठाई की दुकान में काम करते थे यश जौहर, जानिए पूरा कहानी

करण जौहर के पिता यश जौहर (Yash Johar) देश का विभाजन होने के बाद फैमिली के साथ दिल्ली आ गये थे और यहा आकर यश जौहर के पिता ने 'नानकिंग स्वीट्स' नाम से मिठाई की दुकान खोली.  यश जौहर के 9 भाई-बहने थे, जिसमें से यश सबसे ज्यादा पढ़े-लिखे थे. बताया जाता है कि उस वक्त यश जौहर अंग्रेजी बोलते थे. जिसकी वजह से उनके पिता ने उन्हें मिठाई की दुकान

  |     |     |     |   Updated 
Yash Johar Birth Anniversary: निर्माता बनने पहले मिठाई की दुकान में काम करते थे यश जौहर, जानिए पूरा कहानी

यश जौहर (Yash Johar) बॉलीवुड मशहूर फिल्म निर्माता थे और वो धर्मा प्रोडक्शंस (Dharma Productions) के संस्थापक भी थे. आज उनकी 93वां बर्थ एनिवर्सरी हैं. उनका जन्म 6 सितंबर 1929 को अमृतसर के एक पंजाबी परिवार में हुआ था. यश जौहर की फिल्में लोंगों को काफी पसंद आती थी.आज भी फैंस उनकी फिल्मों को देख उनको याद करते है. यश जौहर (Yash Johar) बनाई हुई फिल्मो में भारतीय परंपराओं और पारिवारिक मूलों को शामिल किया जाता था. लेकिन क्या आप जानते है कि फिल्मी दुनिया में आने से पहले वह मिठाई की दुकान में काम करते थे?

Yash Johar
Yash Johar

अगर नहीं तो चलिए आज हम अपको उनके जन्मदिन पर ये खास बात बताते हैं.

दरअसल, करण जौहर के पिता यश जौहर (Yash Johar) देश का विभाजन होने के बाद फैमिली के साथ दिल्ली आ गये थे और यहा आकर यश जौहर के पिता ने ‘नानकिंग स्वीट्स’ नाम से मिठाई की दुकान खोली.  यश जौहर के 9 भाई-बहने थे, जिसमें से यश सबसे ज्यादा पढ़े-लिखे थे. बताया जाता है कि उस वक्त यश जौहर अंग्रेजी बोलते थे. जिसकी वजह से उनके पिता ने उन्हें मिठाई की दुकान पर बैठा दिया. वह दुकान पर हिसाब किताब करते थे. लेकिन यश जौहर का कुछ और ही करने का मन था उनको मिठाई की दुकान पर बैठने का काम जरा भी पसंद नही था.यह भी पढ़ें: थिएटर में फ्लॉप के बाद OTT पर रिलीज होगी आमिर खान की ‘लाल सिंह चड्ढा’, जानिए कब और कहां देख सकते हैं फिल्म

Yash Johar
Yash Johar

यश जौहर की मां ने की चोरी

यश जौहर (Yash Johar) की इस बात पर उनकी मां ने गौर किया और उनसे कहा- बेटा तुम्हारा यहां कुछ नहीं होने वाला. तुम इसलिए मुंबई चले जाओ. यश जौहर की मदद करने की वजह से उनकी मां ने घर से गहने चुरा लिए और पैसे भी गायब कर दिए. चोरी का शक सिक्योरिटी वाले पर गया जिस कारण उसकी पिटाई हुई. इसके बाद यश जौहर मुंबई आ गए, लेकिन शुरुआती दिनों में उन्हें काफी संघर्ष करना पड़ा.

Yash Johar
Yash Johar

दिलचस्प नौकरी का किस्सा

उनके नौकरी मिलने का किस्सा भी बड़ा ही दिलचस्प है. वमधुबाला की एक तस्वीर ने उनका कैरियर बना दिया था. दरअसल यश जौहर (Yash Johar) टाइम्स ऑफ इंडिया न्यूज़ पेपर में फोटोग्राफर बनना चाहते थे. उस समय के आसिफ अपनी फिल्म ‘मुगल-ए-आजम’ की शूटिंग कर रहे थे जिसकी लीड एक्ट्रेस मधुबाला थीं. कहा जाता है कि मधुबाला उस दौर में किसी को अपनी तस्वीर नहीं लेने देती थी. लेकिन यश जौहर ने उनसे अंग्रेजी में बातचीत की जिस वजह से मधुबाला काफी इंप्रेस हो गई. यश जौहर ने मधुबाला की तस्वीर ली और टाइम्स ऑफ इंडिया के ऑफिस पहुंच गए. इसके बाद उन्हें वहां नौकरी मिल गई.यह भी पढ़ें: Happy Birthday Rakesh Roshan: राकेश रोशन की हर फिल्म के शुरुआत में आता है ‘K’, जानिए इसके पीछे की कहानी!

Yash Johar
Yash Johar

सुनील दत्त के प्रोडक्शन हाउस से की शुरुआत

इसके बाद यश जौहर (Yash Johar) ने फिल्मों में अपनी शुरुआत सुनील दत्त के प्रोडक्शन हाउस में बतौर सहायक के रूप में की थी. यहां काम करने के बाद वह बॉलीवुड स्टार देवानंद के प्रोडक्शन हाउस के साथ जुड़े और यहा उन्होंने लंबे समय तक साथ काम किया. इसके बाद उन्होंने साल 1976 में अपनी कंपनी धर्मा प्रोडक्शन की शुरुआत की. बतौर निर्माता उनकी पहली फिल्म अमिताभ बच्चन और शत्रुघ्न सिन्हा स्टारर ‘दोस्ताना’ थी. वही अब यश जौहर मौत के बाद उनकी कंपनी धर्मा प्रोडक्शंस को करण जौहर संभाल रहे है. जिसमें एक से बढ़कर एक हिंदी फिल्मों का निर्माण हो रहा है.

यह भी पढ़ें: क्या ललित मोदी की ‘लव’ नहीं रही सुष्मिता सेन? आईपीएल फाउंडर ने किया कुछ ऐसा

बॉलीवुड और टीवी की अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:

Exclusive News, TV News और Bhojpuri News in Hindi के लिए देखें HindiRush । देश और दुन‍िया की सभी खबरों की ताजा अपडेट के ल‍िए जुड़िए हमारे FACEBOOK पेज से ।

Story Author: chhayasharma



    +91 9004241611
601, ड्यूरोलाइट हाउस, न्यू लिंक रोड, अंधेरी वेस्ट,मुंबई, महाराष्ट्र, इंडिया- 400053
    Tags: ,

    Leave a Reply