रितिक रौशन-सुजैन को फिर एक साथ देखना चाहते हैं पिता संजय खान, 5 साल बाद कुछ यूं छलका दर्द

रितिक रौशन और सुजैन खान एक वक्त पहले बॉलीवुड के सबसे क्यूट कपल में से थे। इन दोनों के अचानक अलग होने की खबर ने सबको चौंका दिया था...

Author   |     |     |     |   Published 
रितिक रौशन-सुजैन को फिर एक साथ देखना चाहते हैं पिता संजय खान, 5 साल बाद कुछ यूं छलका दर्द

रितिक रौशन (Hrithik Roshan) और सुजैन खान (Sussanne Khan) एक वक्त पहले बॉलीवुड के सबसे क्यूट कपल में से थे। इन दोनों के अचानक अलग होने की खबर ने सबको चौंका दिया था। अब इस मामले पर रितिक रौशन के ससुर का संजय का बयान सामने आया है। जिसमें वो चाहते हैं कि बेटी सुजैन और रितिक फिर से साथ हो जाये।

हिंदुस्तान टाइम्स से बातचीत के दौरान पांच साल बाद अब संजय खान ने सुजैन और रितिक के रिस्ते को लेकर खुलकर बात की। उन्होंने कहा, ‘ये दुखद है, शादी को अब उस तरह से सेलिब्रेट नहीं किया जाताा है जैसा पहले किया जाता था। एक समय ऐसा था जब शादी जन्म-मरण का हिस्सा होती थी।’

संजय ने कहा, ‘मुझे पता है कि तलाक किसी भी इंसान को तोड़कर रख देता है। मैंने आज तक अपनी बेटी से ये नहीं पूछा कि रितिक से अलग होने की वजह क्या थी। अच्छी चीज ये है कि बच्चों पर सुजैन और रितिक के अलग होने का निगेटिव असर नहीं पड़ा है। मैं रितिक और अपनी बेटी से बहुत प्यार करता हूं। उनके अलग होने का कोई कारण होगा। लेकिन सबसे मेन बात ये है कि वो लोग आज भी दोस्त हैं। इसके साथ ही वो अपने बच्चों का ध्यान भी रखते हैं।’

संजय के इस बयान से ये साफ हो जाता है कि अभी कुछ ऐसा नहीं हुआ है कि दोनों परिवार के बीच किसी तरह की दरार आई हो। हालही में संजय खान ने अपनी आत्मकथा लॉन्च की है। जिसका नाम ‘द मिस्टेक्स ऑफ माई लाइफ’। है

वहीं तलाक के बाद रितिक का कंगना के साथ अफेयर की खबरों ने खूब तूल पकड़ा था। वहीं सुजैन और रितिक के तलाक का कारण सुजैन का अर्जुन रामपाल के साथ अफेयर को लेकर भी खबरों ने खूब तूल पकड़ा था।

वेल आपका संजय खान के इस बयान पर क्या कहना है नीचें कमेंट्स लिखकर जरूर बताएं।

Exclusive News, TV News और Bhojpuri News in Hindi के लिए देखें HindiRush । देश और दुन‍िया की सभी खबरों की ताजा अपडेट के ल‍िए जुड़िए हमारे FACEBOOK पेज से ।

Story Author: कविता सिंह

कविता सिंह
विवाह के लिए 36 गुण होते हैं, ऐसा फ़िल्मों में दिखाते हैं, पर लिखने के लिए 36 गुण भी कम हैं। पर लेखन के लिए थोड़े बहुत गुण तो है हीं। बाकी उम्र के साथ-साथ आ जायेंगे।

kavita.singh@hindirush.com     +91 9004241611
601, ड्यूरोलाइट हाउस, न्यू लिंक रोड, अंधेरी वेस्ट,मुंबई, महाराष्ट्र, इंडिया- 400053
Tags: ,

Leave a Reply