IPS अफसर ऋषिराज सिंह के दावे से हड़कंप, बोले- श्रीदेवी का हुआ था मर्डर, मेरे दोस्त के पास थे सबूत

वरिष्ठ आईपीएस अफसर और केरल के डीजीपी (जेल) ऋषिराज सिंह (Rishiraj Singh) ने दिवंगत अभिनेत्री श्रीदेवी (Sridevi) की मौत को लेकर चौंकाने वाला खुलासा किया है। उनका दावा है कि श्रीदेवी की हत्या हुई थी।

Author   |     |     |     |   Updated 
IPS अफसर ऋषिराज सिंह के दावे से हड़कंप, बोले- श्रीदेवी का हुआ था मर्डर, मेरे दोस्त के पास थे सबूत
श्रीदेवी की मौत पर IPS अफसर ऋषिराज सिंह का चौंकाने वाला खुलासा। (फोटो- इंस्टाग्राम, ट्वि्टर)

बॉलीवुड एक्ट्रेस श्रीदेवी (Sridevi) की पिछले साल 24 फरवरी को दुबई में मौत हो गई थी। बताया गया कि बाथटब में डूबने से उनकी मौत हुई थी। अभिनेत्री की मौत के करीब सवा साल बाद वरिष्ठ आईपीएस अफसर और केरल के डीजीपी (जेल) ऋषिराज सिंह (Rishiraj Singh) ने अपने दोस्त के हवाले से एक चौंकाने वाला खुलासा किया है। उन्होंने बताया कि श्रीदेवी की मौत सामान्य नहीं थी बल्कि उनकी हत्या हुई थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, आईपीएस अफसर ऋषिराज सिंह ने यह बात अपने दिवंगत दोस्त डॉक्टर उमादथन के हवाले से कही है। डॉक्टर उमादथन केरल के फोरेंसिक सर्जन थे। बीते बुधवार को उनकी मौत हो गई। उनकी मौत पर उन्हें याद कर ऋषिराज सिंह ने केरल के अखबार कौमुदी में एक लेख लिखा, जिसमें उन्होंने श्रीदेवी की मौत पर सवाल खड़े किए।

डीजीपी ऋषिराज सिंह ने लिखा, ‘एक बार मैंने जिज्ञासावश अपने दोस्त डॉक्टर उमादथन से श्रीदेवी की मौत के बारे में पूछा था। उनके जवाब ने मुझे हिलाकर रख दिया। उमादथन ने बताया कि वो श्रीदेवी की मौत की जांच को बहुत करीब से देख रहे थे। रिसर्च के दौरान ऐसे हालात बन रहे थे, जिनसे साफ हो रहा था कि श्रीदेवी की मौत सामान्य नहीं है। इस दौरान कई सबूत उभरे थे जो बता रहे थे कि ये मर्डर है।’

डीजीपी ऋषिराज सिंह आगे लिखते हैं, ‘मेरे दोस्त ने मुझे बताया था कि नशे में धुत कोई भी इंसान किसी भी तरह के हालात में महज एक फिट गहरे बाथटब में डूब ही नहीं सकता है। बिना किसी दबाव के वो शख्स बाथटब में नहीं डूब सकता। किसी ने उनके पैर पकड़े हुए थे और फिर उनका सिर जबरन पानी में डुबोया था।’ बताते चलें कि डीजीपी अपने जिस दोस्त डॉक्टर उमादथन का जिक्र इस लेख में कर रहे हैं उनकी काबिलियत का लोहा केरल ही नहीं बल्कि लीबिया सरकार भी मानती थी।

73 साल के डॉक्टर उमादथन के रिटायर होने के बावजूद केरल सरकार ने उन्हें मेडिको-लीगल एडवाइजर का पद दिया था। वह राज्य के कई जिलों में अपनी सेवाएं दे चुके थे। लीबियाई सरकार भी उनसे मदद मांगती थी। विदेशी सरकार ने भी उन्हें अपना मेडिको-लीगल कंसलटेंट बनाया था। फोरेंसिक साइंस पर वह कई किताबें लिख चुके थे। उनके तेज दिमाग और अपराध के कई पेचीदा मामलों को सुलझाने की वजह से ही उन्हें ‘पुलिस सर्जन’ बुलाया जाता था।

जब मिथुन चक्रवर्ती से शादी करने के लिए श्रीदेवी ने बोनी कपूर को राखी बांध दी थी

क्या हुआ था 24 फरवरी, 2018 की रात, देखिए वीडियो…

Exclusive News, TV News और Bhojpuri News in Hindi के लिए देखें HindiRush । देश और दुन‍िया की सभी खबरों की ताजा अपडेट के ल‍िए जुड़िए हमारे FACEBOOK पेज से ।

Story Author: राहुल सिंह

राहुल सिंह
उत्तराखंड के छोटे से शहर हल्द्वानी से ताल्लुक रखता हूं। वैसे लिखने को बहुत कुछ है अपने बारे में, लेकिन यहां शब्दों की सीमा तय है। पत्रकारिता का छात्र रहा हूं। सीख रहा हूं और हमेशा सीखता रहूंगा।

rahul.singh@hindirush.com     +91 9004241611
601, ड्यूरोलाइट हाउस, न्यू लिंक रोड, अंधेरी वेस्ट,मुंबई, महाराष्ट्र, इंडिया- 400053
Tags: , ,

Leave a Reply