जेल में संजय दत्त डरे दाढ़ी और बाल बनाने वाले से, बड़े हादसे से बचे

संजय दत्त को जेल में मिला ऐसा काम, बड़ा हादसा होते-होते रहा

By   |    |   1,617 reads   |  0 comments
जेल में संजय दत्त डरे दाढ़ी और बाल बनाने वाले से, बड़े हादसे से बचे

संजय दत्त को जेल में मिला ऐसा काम, बड़ा हादसा होते-होते रहा

जल्द ही संजय दत्त की फिल्म संजू रिलीज़ होने वाली है ऐसे में उनकी लाइफ के कई हिस्सों को परदे पर दिखाया जाएगा| आपको बता दें संजय दत्त ने कई साल जेल में गुज़ारे थे| अब एक ऐसा ही किस्सा सामने आया है| रिपोर्ट्स की माने तो संजय दत्त जब जेल में थे उस दौरान एक दुसरे कैदी को उनकी दाढ़ी और बल बनाने को कहा गया था| हालाँकि ऐसा हो नहीं पाया क्योंकि संजय दत्त उस आदमी से बहुत ही डर गए थे| हालाँकि अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर संजय दत्त ने आखिर अपने दाढ़ी और बाल बनवाने से इनकार क्यों किया?

इसलिए डर गए थे संजय दत्त 

अब आईबी टाइम्स की एक रिपोर्ट की माने तो संजय दत्त ने जब उस आदमी से बात की तो पता चला कि उसने अपनी वाइफ को चाकू से गोंदकर मार डाला था| जैसे ही संजय दत्त को इस बारे में पता चला तो वो बहुत ही घबरा गए थे| यही नहीं बल्कि उस आदमी को अपने बाल और दाढ़ी बनाने से मना कर दिया| आपको बता दें संजय दत्त की बायोपिक संजू में ऐसे ही कई किस्सों को दर्शाया जाएगा जो उनके फैन्स को नहीं पता|

रणबीर ने बताया संजय दत्त को प्ले करते वक़्त रो पड़े थे 

हाल में ही हिंदी रश से बात करते हुए रणबीर कपूर ने बताया की फिल्म में कुछ ऐसे सीन्स थे जिसकी शूटिंग करना बहुत ही मुश्किल थी और कुछ इमोशनल सीन्स की शूटिंग करते वक़्त रणबीर कपूर सच में रो पड़े थे। इस बारे में बताते हुए रणबीर कपूर ने कहा, “बहुत सारे ऐसे सीन थे जिन्हे शूट करते समय मेरी आंखें भर आईं थी, लेकिन मैं दो ऐसे सीन चुनूंगा जहां पर सबसे ज्यादा इमोशनल हुआ था। पहला सीन जब उनकी फिल्म रॉकी का प्रीमियर चल रहा था और ठीक 2 दिन पहले उनकी मां का निधन हो गया था। वह ड्रग्स में बहुत ज्यादा इन्वॉल्व हो गए थे। जब फिल्म चल रही थी तो लोग अंदर फिल्म देख रहे थे और वह बाहर सीढ़ियों में अपने पिता के साथ बैठकर उन्हें बता रहे थे कि पता नहीं मुझे क्या हो गया है, मैं ड्रग्स में बहुत ज्यादा घुस गया हूं। मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा कि क्या सच है और क्या झूठ, यह सीन बहुत इमोशनल था। दूसरा सीन था जब सुनील दत्त साहब की डेथ हुई, तब संजय दत्त पर गुजर रही थी, जब वह अपने पिता की अर्थी लेकर जा रहे थे तो उनके दिमाग में क्या चल रहा था। इस सीन को बहुत ही प्यारे ढंग से राजू सर ने लिखा है, इस समय संजय दत्त अपने पिता को धन्यवाद बोल रहे थे।

 

 

Leave a Reply