दुनिया के शानदार होटलों से भी ‘जानदार’ है जोधपुर का उम्मेद भवन, जहां प्रियंका चोपड़ा लेंगी सात फेरे

देसी गर्ल प्रियंका अपने होने वाले विदेशी पति निक जोनस के साथ उम्मेद भवन में सात फेरे लेने वाली हैं। चलिए आपको बताते हैं इस किले की खासियत...

By   |    |   3,988 reads   |  1 comments
दुनिया के शानदार होटलों से भी ‘जानदार’ है जोधपुर का उम्मेद भवन, जहां प्रियंका चोपड़ा लेंगी सात फेरे

राजा महाराजा की तरह शाही ठाठ बाठ पसंद करने वाले लोगों को जोधपुर का ये उम्मेद भवन बेहद ही आकर्षिक करता है। दुनियाभर के नामी लोग यहां करोड़ो खर्च करके इसे अपनी शादी के वेन्यू के लिए चुनते हैं। इस कड़ी में बॉलीवुड एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा का नाम जुड़ गया है। देसी गर्ल प्रियंका अपने होने वाले विदेशी पति निक जोनस के साथ यहां सात फेरे लेने वाली हैं। प्रियंका ने दुनिया की सारी जगहों को छोड़ कर आखिर इस उम्मेद भवन को ही क्यों चुना। चलिए आपको बताते हैं इस किले की खासियत…

उम्मेद भवन 26 एकड़ में फैला हुआ दुनिया का सबसे बड़ा आवासीय परिसर है। ये पैलेस आजादी के पहले बनाया हुआ महल है। इस महल की नींव 1929 में रखी गई। जो वर्ष 1943 में पूरा हुआ। महल बनने के चार साल बाद देश आजाद हो गया। आजादी के बाद कोई शाही साम्राज्य नहीं था। केवल उनके भव्य महल बने थे। महाराजा उम्मेद सिंह के वंशज महाराजा गज सिंह आज भी यहां रहते हैं। इस महल का देखरेख उन्हीं के जिम्मे है।

महल दो पंखों के साथ ‘सुनहरा पीला’ बलुआ पत्थर के साथ बनाया गया था मकराना में संगमरमर का भी इस्तेमाल किया गया है, और बर्मा की सागौन की लकड़ी का इस्तेमाल आंतरिक लकड़ी के काम के लिए किया गया है। जब महल पूरा हुआ तो 347 कमरे, कई आंगनों, और एक बड़े भोज हॉल जिसमें 300 लोगों को आसानी से बैठाया किया जा सकता हैं।

इस भवन को लेकर एक दिलचस्प कहानी भी जुड़ी हुई है। उमैद भवन पैलेस के निर्माण का इतिहास एक संत के अभिशाप से जुड़ा है,जिन्होंने कहा था कि अच्छे शासन का पालन करनेवाले राठौड़ वंश को अकाल के एक दौर से गुजरना पड़ेंगा। इस प्रकार, 1920 के दशक में जोधपुर को लगातार तीन वर्षों तक सूखे और अकाल की स्थिति का सामना करना पड़ा।

अकाल की स्थिति का सामना करने वाले क्षेत्र के किसानों ने कुछ रोजगार प्रदान करने के लिए तत्कालीन राजा उम्मेद सिंह की सहायता मांगी, जो झारपुर में मारवाड़ के 37 वें राठौड़ शासक थे, ताकि वे अकाल की स्थिति से बच सकें। राजा, किसानों की मदद के लिए, एक भव्य महल का निर्माण करने का फैसला किया। राजा उम्मेद ने लोगों की मदद के लिए और महल तैयार करने के लिए कहा, जिसमें काम करके लोगों को जीवन पटरी पर आ गया। इस किले की शुरुआत वर्ष 1928 में शुरु हुआ और 1943 में पूरा हुआ। मेहनती लोगों को इस किले ने बुरे वक्त में साथ दिया।

इसके एक हिस्से में होटल ताज को बनाया गया। इसे दुनिया का सबसे बेस्ट होटल का खिताब भी मिल चुका है। इस होटल के संचालकों का ये दावा है कि उम्मेद भवन पैसेल में शाही जीवन जीने का अनुभव दुनिया में और कहीं नहीं मिल सकता।

यहां के संचालकों का ये भी कहना है कि यहां कॉकटेल पार्टी, विश्व में फेमस मेहरानगढ़ फोर्ट में शादी से जुड़ी कई रश्में जैसे मेहंदी, हल्दी, संगीत की फंक्शन का शाही अंदाज कोई भूल नहीं सकता, तभी तो यहां हर साल देश-विदेश से लोग शादी करने आते हैं।

यहां आए लोग कुछ दिन के लिए किसी महाराजा-महारानी की लाइफ स्टाइल को महसूस करते है। कभी न भूलने वाले इस अहसास को महसूस करने का खर्च भी कम नहीं होता है। करोड़ों खर्च करने के बाद लोगों को यह रॉयल अहसास होता है।

दो से तीन दिवसीय शादी समारोह पर करोड़ों का खर्च आता है। पांच से पच्चीस करोड़ सामान्य खर्च माना जाता है। वहीं बॉलीवुड से हॉलीवुड के सितारों के लिए राजस्थान उनका फेवरेट है। उम्मेद भवन में एलिजाबेथ हर्ली और अरुण नायर ने भी उम्मेद भवन से शादी की थी। वहीं नीता अंबानी ने अपनी 50वीं सालगिरह भी इसी महल में रखी थी।

 वीडियो में देखिए प्रियंका और निक की शादी से जुड़ी जानकारी…

देखिए उम्मेद भवन की तस्वीरें और वीडियो…

    Anonymous

    Maun ek din kharidonga royal palace

Leave a Reply