Lata Mangeshkar ने भारत रत्न जीतने का नहीं मनाया था जश्न, भाई Hridaynath और बहन Usha Mangeshkar ने खोले राज

लता मंगेशकर Lata Mangeshkar के भाई हृदयनाथ मंगेशकर कहते हैं, 'वह हमेशा चाहती थी कि मैं एक पुरस्कार जीतूं, वह उनका सपना था। जब उन्होंने भारत रत्न जीता तो उन्होंने इसे नहीं सेलिब्रेट किया, लेकिन जब मुझे पद्मश्री मिला तो उसने इसे एक उत्सव की तरह मनाया।'

  |     |     |     |   Updated 
Lata Mangeshkar ने भारत रत्न जीतने का नहीं मनाया था जश्न, भाई Hridaynath और बहन Usha Mangeshkar ने खोले राज

दुनियाभर में स्वर कोकिला के नाम से मशहूर लता मंगेशकर Lata Mangeshkar ने 6 फरवरी 2022  को इस दुनीया को अलविदा कह दिया था। लता मंगेशकर Lata Mangeshkar के निधन से पूरी इंडस्ट्री ही नहीं बल्कि पूरा देश शोक में था। फैंस से लेकर सेलेब्स तक उनके गानो  को याद किया जा रहा था और अपनी यादें ताजा कर उन्हें श्रद्धांजलि दी जा रही है।

वही लता मंगेशकर Lata Mangeshkar के निधन के बाद उन्हें ‘नाम रह जाएगा'(Naam Reh Jayega) के माध्यम से श्रद्धांजलि दी जा रही है। इस सप्ताह ‘नाम रह जाएगा’ का ग्रैंड फिनाले एपिसोड है, जिसके जरिए लेजेन्ड्री लता मंगेशकर Lata Mangeshkar को एक म्यूजिकल ट्रिब्यूट दिया जा रहा है। यह महान सिंगर को दी गई अब तक की सबसे इमोशनल और बेहद खास श्रद्धांजलि होगी। इस शो के अपकमिंग एपिसोड में लता मंगेशकर जी की बहन उषा मंगेशकर (Usha Mangeshkar) और भाई हृदयनाथ मंगेशकर (Hridaynath Mangeshkar) नजर आएंगे। इसमें वे लता मंगेशकर के जीवन और सफर की कुछ घटनाओं को भी लोगो के साथ साझा करेंगे।

इस शो में उषा मंगेशकर पनी बहन लता मंगेशकर के बारे में बताते हे कहती है की लता मंगेशकर अपने परिवार के करीब थीं और उन्होंने परिवार के हर सदस्य के साथ एक प्यार भरा बंधन साझा किया। उषा मंगेशकर आगे बात करते हुए कहती है। ‘मीना ताई हमेशा लता दीदी के साथ रिकॉर्डिंग के दौरान रहती थीं। स्टूडियो में रिकॉर्डिंग के बाद, लता दी मीना ताई से गाने पर उनके विचार पूछती थीं। वह गाने को केवल तभी आगे जाने देती थी जब उसे मीना की अप्रूवल मिलती थी। उन्होंन उन पर बहुत भरोसा किया।’ उनके भाई हृदयनाथ मंगेशकर कहते हैं, ‘वह हमेशा चाहती थी कि मैं एक पुरस्कार जीतूं, वह उनका सपना था। जब उन्होंने भारत रत्न जीता तो उन्होंने इसे नहीं सेलिब्रेट किया, लेकिन जब मुझे पद्मश्री मिला तो उसने इसे एक उत्सव की तरह मनाया।’

उषा ताई इस पर आगे बात करते हुए कहती है की लता दीदी र न केवल एक महान सिंगर थीं बल्कि वह समाज को वापस देने में भी विश्वास करती थीं। वह बहुत सारा चैरिटी वर्क करती थी। उषा जी ने आगे कहा ‘लता दी ने चैरिटी के लिए बहुत काम किया है। वह भी उस समय के दौरान जब वह ज्यादा काम नहीं कर रही थीं। उन्होंने पुणे में एशिया का सबसे बड़ा और सबसे किफायती अस्पताल बनाया है। बॉलीवुड के वेटरन म्यूजीशियन के लिए वृद्धाश्रम शुरू करना उनका सपना था। ‘

बता दे की स्टारप्लस की 8 एपिसोड सीरीज ‘नाम रह जाएगा’ के जरिए लेजेन्ड्री लता मंगेशकर को खास श्रद्धांजलि देने के लिए भारत के सबसे लोकप्रिय 18 गायक एक साथ आए है। इसमें सोनू निगम, अरिजीत सिंह, शंकर महादेवन, नितिन मुकेश, नीति मोहन, अलका याज्ञनिक, साधना सरगम, उदित नारायण, शान, कुमार शानू, अमित कुमार, जतिन पंडित, जावेद अली, ऐश्वर्या मजूमदार, स्नेहा पंत, प्यारेलाल जी, पलक मुच्छल और अन्वेशा का नाम शामिल है। इसका हर एपिसोड स्टार प्लस पर हर रविवार शाम 7 बजे प्रसारित होता है। शो की कल्पना और निर्देशन साईबाबा स्टूडियोज के गजेंद्र सिंह ने किया है।

बॉलीवुड और टीवी की अन्य खबरों के लिए क्लिक करें।

 

 

Exclusive News, TV News और Bhojpuri News in Hindi के लिए देखें HindiRush । देश और दुन‍िया की सभी खबरों की ताजा अपडेट के ल‍िए जुड़िए हमारे FACEBOOK पेज से ।

Story Author: chhayasharma



    +91 9004241611
601, ड्यूरोलाइट हाउस, न्यू लिंक रोड, अंधेरी वेस्ट,मुंबई, महाराष्ट्र, इंडिया- 400053
    Tags: , , ,

    Leave a Reply