सुहैब इलियासीः लव मैरिज, मर्डर, सजा और बरी होने तक की कहानी

क्राइम शो होस्ट करने वाले टीवी एंकर सुहैब इलियासी से पुलिस भी ज्ञान लेती थी, लेकिन...

By   |    |   541 reads   |  0 comments
सुहैब इलियासीः लव मैरिज, मर्डर, सजा और बरी होने तक की कहानी

यह कहानी एक ऐसे क्राइम पत्रकार और टीवी एंकर की है जिसने भारत के टीवी पत्रकारिता में सनसनी फैला दिया था। एंकर सुहैब इलियासी के शो को देखकर पुलिस चौकनी हो जाती थी। ऐसा भी कहा जाता है कि पुलिस इस शो को देखकर चोर को पकड़ती थी। इंडिया मोस्ट वॉन्टेड (India Most Wanted) नामक शो, इलियासी और इनकी मृत पत्नी अंजू ने मिलकर बनाया था। इसी शो से दोनों के बीच अनबन शुरू हुई और फिर एक दिन अंजू की मौत कारण यही शो बना। बस इसके बाद क्राइम का एंकर कातिल बन गया। 17 साल पहले घटी घटना में कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुना दी। लेकिन इस पर सुहैब ने काउंटर फाइल किया और आज शुक्रवार को दिल्ली हाईकोर्ट ने बाइज्जत बरी कर दिया है।

जानकारी के मुताबिक, सुहैब इलियासी को 20 दिसंबर, 2017 को दिल्ली की नीचली अदालत ने भले ही दोषी करार दिया था। पर सुहैब इलियासी के वकील राजीव मोहन और अभिमन्यु ने बहस करके छुड़ा लिया है। दिल्ली हाईकोर्ट के जस्टिस एस मुरलीधर और विनोद गोयल ने सुनवाई करते हुए बरी कर दिया। कोर्ट का कहना है कि घटनास्थल पर मिले हथियार और साक्ष्य से सुहैब इलियासी का गुनाह साबित नहीं हो पा रहा है। मतलब कि साक्ष्य के अभाव में सुहैब को बरी कर दिया गया है। इलियासी की पत्नी की मौत आखिर कैसे हुई यह बात अब तक पहेली बनी हुई है। पहले प्यार फिर तकरार और हत्या की गुत्थी दुनिया के सामने अब तक उलझी हुई है।

सुहैब और अंजू के बीच तकरार
सुहैब इलियासी और अंजू दोनों ने दिल्ली की जामिया मिल्लिया यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की। 1990 में पढ़ाई के दौरान दोनों एक-दूसरे के करीब आए। 1993 में दोनों ने कोर्ट मैरिज एक्ट के अंतर्गत शादी कर ली। इसके बाद दोनों भारत से लंदन की ओर रूख किए। वहां पर दोनों ने मिलकर एक क्राइम शो का मास्टर प्लान तैयार किया। इस शो की एंकरिंग अंजू ने की और इसी के आधार पर चैनलों से बातचीत हुई। काफी संघर्ष के बाद एक टीवी ने इस शो को चलाने की हामी भरी लेकिन शो की एंकर अंजू नहीं सुहैब इलियासी बनें। इस बात से अंजू काफी नाराज हुई और वह अपने साथ हुए धोखा के कारण कनाडा चली गई। यही वह पहला मोड़ था जब दोनों का झगड़ा जग जाहिर हुआ।

अंजू का बर्थ डे और अंतिम रात
इस मनमुटाव के बाद इलियासी ने अंजू को मनाया और भारत लेकर आ गया। 10 जनवरी, 2000 को सुहैब इलियासी अपने एक फैंस से रात में बात कर रहे थे। इसी बात को लेकर दोनों के बीच जमकर झगड़ा हुआ। लेकिन यह भी कहा जाता है कि 16 जनवरी को अंजू का बर्थ डे था। इसकी तैयारी भी चल रही थी। लेकिन सुहैब के स्वार्थीपन और अड़ियल स्वभाव से तंग आकर अंजू नाराज रहने लगी थी। सुहैब बतातें हैं कि इसलिए वह खुदकुशी कर ली। सुहैब 10 जनवरी की रात अंजू को खून में सना देखकर कॉन्टेबलों के पास पहुंचे और सारी कहानी बताई। हालांकि अंजू को एम्स ले जाया गया लेकिन उसने दम तोड़ दिया। इसके बाद परिवार वालों ने दहेज उत्पीड़न का मामला दर्ज कराया। इस तरह पत्रकारिता, क्राइम शो से शुरू होने वाली प्रेम कहानी मर्डर के साथ खत्म हो गई।

वीडियो देखें…

Leave a Reply