IIMA में टीचर की भूमिका निभाते हुए नजर आए प्रणब मुखर्जी, आगे भी देते रहेंगे लेक्चर

प्रणब मुखर्जी पब्लिक पॉलिसी फॉर इन्क्लूसि डेवलपमेंट ऑफ इंडिया नाम के कोर्स की पढ़ाई कराते हुए दिखाई देंगे।

देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी इन दिनों एक शिक्षक के तौर पर ज्ञान देते हुए नजर आ रहे हैं। प्रणब मुखर्जी ने आईआईएम -ए में बतौर एक गेस्टर टीचर के तौर पर लेक्चर दिया हैं। प्रणब मुखर्जी पब्लिक पॉलिसी फॉर इन्क्लूसि डेवलपमेंट ऑफ इंडिया नाम के कोर्स की पढ़ाई कराते हुए दिखाई देंगे।

पब्लिक पॉलिसी फॉर इन्क्लूसिव डेवलपमेंट ऑफ इंडिया में 22 सेशन होंगे, जिनके अंदर कम से कम 12 सेशन में पूर्व राष्ट्रपति फैकल्टी के तौर पर हिस्सा लेंगे। वहीं साथ ही लेक्चर से संबंधित कंटेंट को किसी से भी साझा करने से मना किया गया है। कहा गया है कि 17 नवंबर को लेक्चर की सीरीज खत्म होने के बाद ही परियोजना रिपोर्ट को साझा किया जाएगा। प्रणब मुखर्जी आज भी लेक्चर देंगे। इसके अलवा वह 8 से 9 अक्टूबर और 16 -17 नवबंर को भी लेक्चर देने वाले है।

इन विद्यार्थियों के लिए है ये कोर्स
वहीं, आईआईएम ए की तरफ से कहा गया है कि अपने लेक्चर में पूर्व राष्ट्रपति सामाजिक और आर्थिक समावेश के लिए संवैधानिक प्रावधनों के सिद्धांत और व्यवहार को साझा करेंगे। साथ ही वह वित्तीय समावेशन के नीतिगत से जुड़ी चीजों पर भी विचार करेंगे। आपको बता दें कि यह कोर्स केवल पीजीपीएम,एफएबीएम और पीजीपीएक्स के स्टूडेंट्स के लिए है।

हर चीज की है बेहतरीन समझ
ऐसा पहली बार नहीं हुआ जब किसी पूर्व राष्ट्रपति ने बतौर शिक्षक पढ़ाया हो। इससे पहले पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम भी आईआईएम ए के विद्यार्थियों को पढ़ा चुकें हैं। आईआईएम ए ने पहले बताया था कि प्रणब मुखर्जी उन लोगों में से एक आते है जिन्हें पिछले पांच दशक की भारतीय राजनीति और शासन व्यवस्था का एक अच्छा खास अनुभव है। इतना ही नहीं उन्होंने कई महत्वपूर्ण सार्वजनिक नीतियां का भी निर्माण किया है। ऐसे में यह विद्यार्थियों के लिए एक बेहतरीन मौका है।

Leave a Reply