अमिताभ बच्चन ने हजारों किसानों का चुकाया कर्ज, कहा- उसे राष्ट्र नहीं कहना चाहिए

अमिताभ बच्चन ने उत्तर प्रदेश के एक हजार से अधिक किसानों का कर्ज चुकाया। इसके लिए कुछ किसानों को उन्होंने मुंबई भी बुलाया।

By   |    |   837 reads   |  0 comments
अमिताभ बच्चन ने हजारों किसानों का चुकाया कर्ज, कहा- उसे राष्ट्र नहीं कहना चाहिए

महानायक अमिताभ बच्चन ने एक बार फिर किसानों का कर्ज चुकाया है। बताया जा रहा है कि बिग बी ने उत्तर प्रदेश के एक हजार से अधिक किसानों का कर्ज चुकाया। इस संदर्भ में अमिताभ ने सोमवार को ट्वीट कर जानकारी दी। इसके लिए कुछ किसानों को उन्होंने मुंबई भी बुलाया। वहां पर उनसे मुलाकात की और एक बैंकिंग योजना से जोड़ कर उनके जीवन को नई दिशा दी। इस दौरान उन्होंने अपनी लक्ष्मी जैसी बेटी श्वेता बच्चन को अपने साथ रखा। इस दौरान श्वेता बच्चन के द्वारा बैंक के कागजात सौंपे गए। कर्ज से मुक्ति पाकर किसानों के चेहरे पर खुशी की लहर देखने को मिली।

जानकारी के मुताबिक, अमिताभ बच्चन ने उत्तर प्रदेश के किसानों का कर्ज चुकाने के लिए उनको वाराणसी से ट्रेन की बुकिंग कर बुलाया और उन्हें ओटीएस (वन टाइम सेटलमेंट विद बैंक ऑफ इंडिया) दिए। उन्होंने बैंक के कागजात देने के लिए कुछ किसानों से व्यक्तिगत स्तर पर मुलाकात की। उनकी जानकारी के अनुसार, 1398 में से कुछ किसानों को ओटीएस प्रमाण पत्र दिए। अमिताभ ने बैंक के साथ ओटीएस किया और बैंक कागजात देने के लिए 70 किसानों को मुंबई बुलाया, जिसके लिए ट्रेन का एक पूरा डिब्बा बुक किया गया था। बताते चलें कि 2017 में 350 से अधिक किसानों का कर्ज चुकाया था और महाराष्ट्र के 44 शहीद जवानों के परिवारों की मदद की थी।

देश को दिया ये संदेश
इतना ही अमिताभ बच्चन ने मुंबई हमले की घटना को याद करते हुए कई बातें कहीं। 26/11 मुंबई हमले की 10 वीं वर्षगांठ के मौके पर गेटवे ऑफ इंडिया में आयोजित कार्यक्रम के तीसरे संस्करण के दौरान यह राष्ट्र को लेकर टिप्पणी की। वहां पर उनके साथ मशहूर लेखक और कवि जावेद अख्तर भी मौजूद थे। एकता की शक्ति का जिक्र करते हुए अमिताभ ने कहा, ‘इसी जगह पर पिछले साल हमने यह प्रतिज्ञा की थी कि हम कभी भी आतंकवाद को आश्रय नहीं देंगे और आज हम चाहते हैं कि प्यार की ताकत और एकता को जगाने का हमारा सपना पूरा हो। हमारी भावी पीढ़ी को भयमुक्त जीवन देने के लिए हमें एकजुट होना चाहिए।’

विनाशकारी मानसिकता
उन्होंने आगे कहा कि विनाशकारी मानसिकता रखने वाले लोग हमारे दरवाजों पर दस्तक दे रहे हैं, लेकिन हम उनसे वैसी ही मानसिकता के साथ नहीं लड़ सकते। हम इससे एकता की ताकत के जरिए निपट सकते हैं और यह समय की मांग है। अमिताभ ने कहा कि एकजुट राष्ट्र ही किसी राष्ट्र के निर्माण का रास्ता है। एकजुट होना सामाजिक विकल्प नहीं बल्कि राष्ट्र के निर्माण का रास्ता है। मेरा मानना है कि एकजुट होना एक राष्ट्र होने का प्रमाण है और अगर एक राष्ट्र एकजुट नहीं है तो फिर मुझे यह कहते हुए दुख हो रहा है कि उसे राष्ट्र नहीं कहना चाहिए। हमें हमारी भावी पीढ़ी के लिए एक ऐसा माहौल तैयार करना है जहां विनाशकारी मानसिकता वाले हमें कोई नुकसान नहीं पहुंचा पाएं। कार्यक्रम में केंद्रीय रेलवे मंत्री पीयूष गोयल, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और गायक जावेद अली आदि मौजूद थे।

यहां देखिए अमिताभ बच्चन का एक वीडियो…

यहां देखिए अमिताभ बच्चन के कुछ खास ट्विट…

Leave a Reply