49वें IFFI में दिखाई जाएंगी 212 फिल्में, इन सितारों का रहेगा जलवा

आईएफएफआई में इस साल अंतर्राष्ट्रीय खंड में 15 फिल्में होंगी, जिसमें से...

By   |    |   411 reads   |  0 comments
49वें IFFI में दिखाई जाएंगी 212 फिल्में, इन सितारों का रहेगा जलवा

49वें अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफआई) का आयोजन गोवा में 20 से 28 नवंबर तक किया जा रहा है, जिसमें 68 देशों की विविधता से भरपूर 212 फिल्में दिखाई जाएंगी और इसमें विशेष फोकस वाला देश इजरायल होगा। पीआईबी द्वारा जारी बयान के मुताबिक, महोत्सव में इंगमार बर्गमैन का एक गतावलोकी खंड होगा, जोकि फिल्मकार के जन्म के 100वें साल को चिन्हित करता है। आईएफएफआई में इस साल अंतर्राष्ट्रीय खंड में 15 फिल्में होंगी, जिसमें से तीन भारतीय फिल्में हैं। प्रतिस्पर्धी अनुभाग में 22 देशों द्वारा निर्मित/सहनिर्मित फिल्मों को शामिल किया गया है।

महोत्सव के कलाइडस्कोप अनुभाग में 20 बहु प्रशंसित फिल्मों को शामिल किया गया है। ये फिल्में प्रमुख अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सवों में प्रदर्शित की गई हैं और इन्हें विभिन्न फिल्म पुरस्कार प्राप्त हुए हैं। इस अनुभाग में सर्वोत्तम फिल्मों को शामिल किया जाता है। विश्व पैनोरमा अनुभाग में 67 फिल्मों का चयन किया गया है। इसमें चार वल्र्ड प्रीमियर, दो इंटरनेशनल प्रीमियर, 15 एशिया प्रीमियर और 60 इंडिया प्रीमियर फिल्में शामिल हैं।

साथ ही, इस वर्ष के विश्व पैनोरमा अनुभाग में उन 15 फिल्मों को शामिल किया गया है, जिन्हें ऑस्कर पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया था। बयान में कहा गया है कि साल 2018 इंगमार बर्गमैन का जन्म शताब्दी वर्ष है। इस अवसर पर आईएफएफआई ने उनकी सात सर्वश्रेष्ठ फिल्मों का चयन किया है। बर्गमैन पर आधारित एक वृत्तचित्र ‘बर्गमैन आयलैंड’ का प्रदर्शन किया जाएगा, जिसे मेरी नायरी रॉड ने निर्देशित किया है। इस वृत्तचित्र में कैमरे के पीछे बर्गमैन की विशिष्ट प्रतिभा को दिखाया गया है। इस अनुभाग का उद्घाटन 21 नवंबर को पैनल परिचर्चा के साथ किया जाएगा। इसके बाद ‘वाइल्ड स्ट्राबेरीज’ फिल्म प्रदर्शित की जाएगी।

महोत्सव का उद्घाटन ‘द एसपर्न पेपर्स’ के प्रदर्शन से किया जाएगा। द एसपर्न पेपर्स बायरोनिक रोमांच के जुनून, स्वप्न और भव्यता के नष्ट होने की कहानी है। इस फिल्म के कलाकार -जोनाथन राइस मेयर्स (मुख्य अभिनेता)- गोल्डन ग्लोब विजेता, जोली रिचर्डसन (मुख्य अभिनेत्री) – ऑस्कर नामांकित अभिनेत्री, जूलिया रॉबिन्स (अभिनेत्री), मोर्गन पोलंस्की (रोमन पोलंस्की की बेटी और अभिनेत्री), निकोलस हाउ (अभिनेता) और जूलियन लेंडाइस (निदेशक) समारोह में भाग लेनेवाले प्रतिनिधिमंडल में शामिल होंगे।

प्रत्येक वर्ष आईएफएफआई एक देश को विशेष फोकस की श्रेणी में रखता है। महोत्सव के दौरान इस देश की सिनेमा उत्कृष्टता और योगदान को दर्शाया जाता है। आईएफएफआई के 49वें संस्करण में इजरायल को विशेष फोकस देश का दर्जा दिया गया है। मुंबई स्थित इजरायली महावाणिज्यदूतावास के सहयोग से इस अनुभाग के लिए 10 फिल्मों का चयन किया गया है।

अभी नेशर द्वारा निर्देशित ‘द अदर स्टोरी’ इस अनुभाग में प्रदर्शित होने वाली पहली फिल्म होगी। इजरायली अभिनेता एलन अबाउटबाउल सहित इजरायल की प्रमुख फिल्मी हस्तियां समारोह में मेहमान होंगे, जिन्होंने प्रमुख हॉलीवुड फिल्मों जैसे रैम्बो 3, स्टीफन स्पीलबर्ग की म्यूनिख, रिडले स्कॉट की बॉडी ऑफ लाइज और द डार्क नाइट राइजिज जैसी नामचीन फिल्मों में काम किया है। 22 नवंबर, 2018 को भारत-इजरायल सह निर्माण संगोष्ठी आयोजित की जाएगी।

49वें आईएफएफआई, 2018 महोत्सव में झारखंड को विशेष फोकस राज्य की श्रेणी में रखा गया है। 24 नवंबर, 2018 को झारखंड दिवस मनाया जाएगा। डेथ इन द गंज, रांची डायरीज, बेगम जान व अन्य फिल्मों को इस अनुभाग में चयनित किया गया है। इन फिल्मों के प्रदर्शन से लोगों को राज्य की कला और संस्कृति की विशेष जानकारी प्राप्त होगी।

अंतर्राष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा जूरी में जॉन इर्विन, एड्रियन सीटारू, पोलैंड के निदेशक रॉबर्ट ग्लिंस्की, अन्ना फेराओली रावेल और भारतीय सदस्य राकेश ओमप्रकाश मेहरा शामिल हैं।

भारतीय पैनोरमा जूरी ने 26 फीचर और 21 गैर फीचर फिल्मों का चयन किया है। फीचर फिल्म अनुभाग में साजी एन करूल द्वारा निर्देशित ओलू तथा गैर फीचर फिल्म अनुभाग में आदित्य सुहास जंबले द्वारा निर्देशित खारवास प्रदर्शित की जाने वाली पहली फिल्में होंगी।

स्कैच ऑन स्क्रीन (एनिमेशन फिल्में) अनुभाग को पहली बार 49वें आईएफएफआई में शामिल किया गया है। इस अनुभाग में तीन अंतर्राष्ट्रीय फिल्मों का प्रदर्शन किया जाएगा, जिन्हें भारतीय स्टूडियो के सहयोग से बनाया गया है।

महोत्सव के दौरान ओपन एयर स्क्रीनिंग का आयोजन किया जाता है। इसके तहत एक खुले क्षेत्र में विशाल पर्दा लगाया जाता है। इस बार खेलो इंडिया और भारतीय खेलों से संबंधित फिल्में दिखाई जाएंगी। इस अनुभाग में गोल्ड, मैरी कॉम, भाग मिल्खा भाग, 1983, एमएसडी-द अन्टोल्ड स्टोरी और सूरमा फिल्मों को शामिल किया गया है।

अंतर्राष्ट्रीय फिल्म काउंसिल और आडियो विजुअल कम्यूनिकेशन पेरिस के सहयोग से आईएफएफआई, आईसीएफटी पुरस्कार देता है। इसमें यूनस्को गांधी मेडल भी शामिल है। यह पुरस्कार वैसी फिल्म को दिया जाता है, जो यूनेस्को के आदशरें को प्रतिबिम्बित करती हैं। इस वर्ष अनुभाग में 10 फिल्मों का चयन किया गया है। इनमें से एक फिल्म को यह प्रतिष्ठित पुरस्कार प्रदान किया जाएगा।

मास्टरक्लास और इन-कनवरशेसन अनुभाग में फिल्म उद्योग की कई प्रसिद्ध हस्तियां शामिल होंगी, जिनमें प्रसून जोशी, डैन वोल्मैन, श्रीकर प्रसाद, अनिल कपूर, सुमित इसरानी, बोनी कपूर, अर्जुन कपूर, जाह्न्वी कपूर, डेविड धवन, वरुण धवन, रोहित धवन, जयराज, कौशिक गांगुली, शाजी करुण, श्रीजीत मुखर्जी, श्रीधर, श्रीराम राघवन, अनुपमा चोपड़ा, राजीव मसंद, भावना सोमैया, जेसन हैफर्ड, मेघना गुलजार, लीना यादव, गौरी शिंदे प्रमुख हैं।

इस वर्ष का दादा साहेब फाल्के पुरस्कार विनोद खन्ना को (मरणोपरांत) दिया गया है। महोत्सव के दौरान उनकी कुछ सर्वश्रेष्ठ फिल्मों जैसे अचानक, लेकिन और अमर अकबर एंथनी का प्रदर्शन किया जाएगा।

इस वर्ष इजरायल के डैन वाल्मैन को लाइफ टाइम अचीवमेंट पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। इस अनुभाग में उनकी कुछ बेहतरीन फिल्मों का प्रदर्शन किया जाएगा।

श्रद्धांजलि अनुभाग के तहत उन फिल्मी हस्तियों की फिल्मों का प्रदर्शन किया जाता है, जिनका हाल में निधन हुआ है। इस वर्ष शशि कपूर, श्रीदेवी, एम. करुणानिधि और कल्पना लाजमी को श्रद्धांजलि दी जाएगी। अंतर्राष्ट्रीय फिल्म जगत के टैरेंस मार्स, मिलोस फॉरमैन और एनी वी. कॉटस को भी श्रद्धांजलि दी जाएगी।

²ष्टिबाधित बच्चों के लिए विशेष प्रदर्शन किया जाएगा। इसके तहत ऑडियो माध्यम की सहायता से विवरण प्रदान किए जाएंगे। इस अनुभाग के तहत शोले और हिचकी फिल्में प्रदर्शित की जाएंगी। ट्यूनीशिया की फिल्मों का भी विशेष प्रदर्शन किया जाएगा।

Leave a Reply