Chandra Grahan 2022: चंद्र ग्रहण के समय गर्भवती महिलाओं को रखना चाहिए इन बातों का खास ख्याल!

चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan 2022) सामान्यतः तब लगता है जब पूर्णिमा को सूर्य, पृथ्वी और चन्द्रमा एक सीधी रेखा में आ जाते हैं. जब पृथ्वी सूर्य और चन्द्रमा के बीच आ जाती है, तब चंद्रग्रहण लगता है. पूर्ण चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan 2022) के वक्त सूर्य की किरणें चन्द्रमा तक नहीं पहुंच पाती हैं और चन्द्रमा पर अंधकार छा जाता है.

  |     |     |     |   Updated 
Chandra Grahan 2022: चंद्र ग्रहण के समय गर्भवती महिलाओं को रखना चाहिए इन बातों का खास ख्याल!

साल का आखिरी ग्रहण चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan 2022) हैं. पंचांग के अनुसार यह चंद्रग्रहण कार्तिक पूर्णिमा को लगने वाला है. इस बार कार्तिक पूर्णिमा 8 नवंबर दिन मंगलवार को पड़ रही हैं. होगा. इस चंद्रग्रहण को भारत में भी देखा जा सकता है. भारत में चंद्रग्रहण (Chandra Grahan 2022) 4 बजकर 24 मिनट पर दिखाई देगा.इसलिए यहां भी सूतक काल मान्य होगा. चंद्रग्रहण का सूतक काल 9 घंटे पहले मान्य होता है. भारत में चंद्रग्रहण 4 बजकर 24 मिनट पर दिखाई देगा. लेकिन, शास्त्रों के अनुसार, जब चंद्रग्रहण (Chandra Grahan 2022) ग्रस्तोदय रूप में लगता है तो ऐसे में सूर्योदय के समय से ही चंद्रग्रहण मान्य हो जाता है. चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan 2022) सामान्यतः तब लगता है जब पूर्णिमा को सूर्य, पृथ्वी और चन्द्रमा एक सीधी रेखा में आ जाते हैं. जब पृथ्वी सूर्य और चन्द्रमा के बीच आ जाती है, तब चंद्रग्रहण लगता है. पूर्ण चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan 2022) के वक्त सूर्य की किरणें चन्द्रमा तक नहीं पहुंच पाती हैं और चन्द्रमा पर अंधकार छा जाता है.

Chandra Grahan 2022
Chandra Grahan 2022

सूतक काल के समय गर्भवती महिलाओं को विशेष रूप से ख्याल रखना चाहिए. तो चलिए हम आपको बताते है कि चंद्रग्रहण के दिन क्या नहीं करना चाहिए

सूतक काल से लेकर चंद्रग्रहण (Chandra Grahan 2022) होने तक गर्भवती महिलाएं किसी भी तरह की नुकीली चीज, जैसे चाकू, कैंची का इस्तेमाल न करें. गर्भवती महिलाओं को सब्जी काटने से परहेज करना चाहिए. कहा जाता है कि ऐसा करने से बच्चा शारीरिक रूप से कमजोर हो सकता है.

चंद्रग्रहण (Chandra Grahan 2022) के समय गर्भवती महिलाओं को भूलकर भी घर से बाहर नहीं जाना चाहिए. हालांकि, मान्यताओं के अनुसार, यदि आपको घर से बाहर जाना पड़ रहा है तो गर्भवती महिलाओं को अपने पेट पर थोड़ा गोबर लगाना चाहिए. हालांकि, लोक व्यवहार में ऐसा करना संभव नहीं है तो आपको अपने पेट के हिस्से पर गेरू लगाना चाहिए. कहा जाता है कि यदि ऐसा नहीं करते हैं तो बच्चे को नुकसान हो सकता है.

चंद्रग्रहण (Chandra Grahan 2022) के समय वैसे तो न भोजन करना चाहिए और न ही बनाना चाहिए. लेकिन, गर्भवती महिलाओं और रोगी व्यक्तियों को इस नियम से छूट है. शास्त्रों में बताया गया है ग्रहण के समय रोगी और गर्भवती महिलाएं तरल पदार्थ का सेवन कर सकते हैं. उन लोगों को पूरी तरह से भूखे प्यासे नहीं रहना चाहिए. हालांकि, आपको पके हुए अन्न को ग्रहण नहीं करना चाहिए. लेकिन, तरल पदार्थ और फलों का सेवन किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें: आलिया भट्ट और रणबीर कपूर के पैरेंट बनने के बाद हॉलीवुड जगत से आई बधाई, एक्ट्रेस गैल गैडोट ने भेजा दिल!

बॉलीवुड और टीवी की अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:

Exclusive News, TV News और Bhojpuri News in Hindi के लिए देखें HindiRush । देश और दुन‍िया की सभी खबरों की ताजा अपडेट के ल‍िए जुड़िए हमारे FACEBOOK पेज से ।

Story Author: chhayasharma



    +91 9004241611
601, ड्यूरोलाइट हाउस, न्यू लिंक रोड, अंधेरी वेस्ट,मुंबई, महाराष्ट्र, इंडिया- 400053
    Tags: ,

    Leave a Reply