इन खलनायक को देखकर उमड़ता है गुस्सा, रणवीर सिंह, राणा दग्गुबती और संजय दत्त भी शामिल

' खलनायक ' बने इन सुपरस्टार्स को कभी भूल नहीं पाएंगे आप

By   |     |   2,678 reads   |   0 comments


' खलनायक ' बने इन सुपरस्टार्स को कभी भूल नहीं पाएंगे आप

वैसे देखा जाए तो दर्शक फिल्म के सुपरस्टार्स को जितना प्यार देते है उतना ही प्यार कुछ फिल्मों के विलन को भी मिलता है। जबकि विलन का किरदार निभाकर कुछ स्टार्स दर्शकों के दिलों में कुछ ख़ास जगा बना लेते है। फिर क्या उनपर खलनायक ऐसा टैग पड़ जाता है हालांकि, लोग उन्हें फिरसे विलन के रोल में देखने की चाह रखते है। कुछ मामलों में तो उनकी खलनायकी, नायक पर भारी पड़ते है । उन्हें फ़िल्म के हीरो से ज़्यादा शोहरत मिलती है। जबकि कई फिल्मों को देखकर तो ये भी कहा जा सकता है कि तमाम फिल्मों की स्क्रि‍प्ट ही हीरो की बजाय विलेन को ध्यान में रखकर लिखी गई है। खैर, हम बात करेंगे ऐसे ही कुछ खास फिल्मो के खलनायक के बारे में :

 

फिल्म पद्मावत के विलन को देखकर तो यही लगता है कि, आज तक ऐसा कोई विलन नहीं होगा। फिल्म पद्मावत में अल्लाउद्दीन खिलजी का किरदार रणवीर सिंह ने निभाया है जबकि रणवीर के ऐसे खतरनाक किरदार को देखकर शरीर पर रोमटे खड़े हो जाते है। जबकि फिल्म में खिलजी के किरदार को शाहिद कपूर से ज्यादा पसंद किया जा रहा है। पद्मावत में खिलजी का चरित्र हद से ज्यादा क्रूर बताया जा रहा है। जो बेहद डरावना भी है। बता दे कि, रणवीर ने गुंडे और किल दिल जैसी फ़िल्मों में प्रतिनायक या एंटीहोरी के किरदार निभाये हैं, मगर पद्मावत का खिलजी पूरी तरह से खलनायक है।

 

 

साल 2012 में रिलीज हुई संजय दत्त की फिल्म अग्न‍िपथ ने बॉलीवुड एक बार फिर खूंख्वार विलेन के ट्रेंड को सबके सामने लाकर खड़ा कर दिया। बता दे कि, संजय दत्त ने अग्न‍िपथ में इस फिल्म की प्रीक्वल अग्निपथ(साल 1990) में डैनी डेन्जोंगपाके किरदार को भी मात दे दी। जबकि कांचा के किरदार में संजय दत्त ने हिन्दी सिनेमा को सबसे भयानक विलेन दे डाला। कहा जाए तो, संजय दत्त के रोल के वजह से फिल्म के हीरो ह्रितिक रोशन थोडेसे गुम होते गए।

 

 

बाहुबली 2- द कंक्लूज़न में राणा दग्गुबती ने भल्लाल देव का किरदार निभाया। इस फिल्म में विलन बनकर राणा ने बाहुबली बने प्रभास को कांटे की टक्कर दी। जबकि फिल्म में बाहुबली के सामने भल्लाल देव कहीं भी कमज़ोर नहीं पड़े। दर्शकों को जितना बाहुबली का किरदार पसंद आया वही विलन का किरदार की उनके दिमाग में बैठ गया।

 

 

साल 1999 में रिलीज हुई फिल्म संघर्ष में लीड रोल में अक्षय कुमार और प्रीटी जिंटा थीं, लेकिन ये फिल्म अगर हिट हुई तो वो सिर्फ आशुतोष राणा की वजह से। इस फिल्म में विलेन के किरदार में आशुतोष ने इस कदर दर्शकों के जहन में डर बसा दिया। जबकि लोग उनके नेगेटिव रोल को आज भी याद करते है।

 

 

बॉलीवुड के किंग खान जहा प्यार और महोब्बत के लिए जाने जाते है वही उनके कई फिल्मों में निभाए जानेवाले विलन के किरदार आज भी याद आते है। किरदारों के साथ प्रयोगधर्मिता के मामले में शाहरुख़ ख़ान कई एक्टरों के लिए प्रेरणा से कम नहीं। छवि बनने के ख़तरे के बावजूद किंग ख़ान ने बाज़ीगर, डर और अंजाम जैसी फ़िल्मों में नकारात्मक किरदार प्ले किये। इन फ़िल्मों का खलनायक, नायकों के सामने छोटा साबित हुआ।

Leave a Reply