इस तरह मशहूर हुए थे एम करुणानिधि, जानिए सिनेमा से सियासत तक का सफर

नहीं रहे दक्षिण राजनीति के पितामह, डीएमके सुप्रीमो करूणानिधि, फिल्मों और नाटकों के जरिए हुए थे मशहूर...

Author   |     |     |     |   Updated 
इस तरह मशहूर हुए थे एम करुणानिधि, जानिए सिनेमा से सियासत तक का सफर
नहीं रहे दक्षिण राजनीति के पितामह, DMK सुप्रीमो करूणानिधि, फिल्मों और नाटकों के जरिए हुए थे मशहूर...

एम करुणानिधि. तमिल राजनीति का एक ऐसा सितारा, जिनके सफर की शुरूआत भले ही फिल्मों से हुई हो, लेकिन उनकी चमक से पूरा तमिलनाडु दमकता था। 14 साल की उम्र में सियासत शुरू करने वाले वो योद्धा, आज सबको छोड़कर चले गए। उनकी मौत ने सागर के किनारे रहने वाले लोगों को आंसुओं के समंदर में डुबो दिया। उनका करिश्माई व्यक्तित्व ही था, जिसकी वजह से वो 80 साल के राजनीतिक करियर में कभी चुनाव नहीं हारे।

उनकी सनक कहें या जनता पर पकड़, वो चेन्नई में बैठकर दिल्ली दरबार को दहलाते और धमकाते रहे। एक नहीं 5 प्रधानमंत्री बनवाए. दिल्ली की सियासत उनके इशारे पर चलती रही। करिश्मा ही था कि 1957 में पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ने वाले करुणानिधि 13 बार विधायक रहे. 5 बार मुख्यमंत्री बने। लेकिन आज वो करिश्मा इतिहास बन गया। 94 साल की उम्र में लंबी बीमारी के बाद उनका चेन्नई में निधन हो गया।

एम करुणानिधि यानी मुथुवेल करुणानिधि का जन्म 3 जून, 1924 को नागापट्टिनम जिले के थिरूकुवलई में जन्म हुआ था। डीएमके में बतौर कार्यकर्ता अपनी स्पीच और स्क्रिप्ट लिखने की क्षमता के चलते करुणानिधी लगातार आगे बढ़ते रहे. उनकी फिल्में और नाटक उन्हें मशहूर बनाती गईं।

उनके सियासी सफर का टर्निंग प्वाइंट तब आया जब डीएमके ने कालाकुडी रेलवे स्टेशन का नाम एक कारोबारी के नाम पर डिलमियापुरम करने का विरोध किया। इस प्रदर्शन के दौरान उनपर 35 रुपये का जुर्माना लगाया गया। 5 महीने की जेल की सजा का आदेश हुआ। करुणानिधि ने जुर्माना अदा करने से मना कर दिया. एक साल तक जेल में सजा काटी। इस प्रदर्शन ने करुणानिधी को पार्टी के शीर्ष नेताओं की कतार में लाकर खड़ा कर दिया।

करुणानिधि ने 8वीं के बाद पढ़ाई छोड़ दी थी। इसके बाद वो सियासत के साथ फिल्मों के लिए स्क्रिप्ट लिखने लगे। उनकी लिखी फिल्में सफलता के झंडे गाड़ने लगीं। उन्होंने 100 से ज्यादा किताबें लिखीं, जिनपर कई फिल्में बन चुकी हैं. इसी बीच उनकी दोस्ती मशहूर एक्टर एम जी रामचंद्रन से हुई। करुणानिधि के लिखे फिल्मों पर रामचंद्रन जबरदस्त हिट हुए। वो सुपरस्टार बन गए। लेकिन व्यक्तिगत वजहों से दोनों की दोस्ती टूट गई।

करुणानिधि ने तीन शादियां की थीं। पहली पत्नी पद्मावती थीं. उनका अब निधन हो चुका है। दूसरी पत्नी दयालु अम्माल और तीसरी पत्नी रजति अम्माल हैं। करुणानिधि के सबसे बड़े बेटे एम के मुथू हैं। उनकी मां का नाम पद्मावती है. मुथू ने कई फिल्मों में काम किया है। उनके बेटे एमके अलागिरी दूसरी पत्नी दयालु अम्माल के पहले बेटे हैं. डीएमके सांसद और मंत्री रह चुके अलागिरी को अब पार्टी से निकाला जा चुका है। उन्होंने कंथी से शादी की है।

एम के स्टालिन, दयालु अम्माल के दूसरे बेटे हैं। माना जा रहा है कि वही करुणानिधि के सियासी उत्तराधिकारी भी हैं। मौजूदा समय में वह डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष और कोषाध्यक्ष हैं। तमिलनाडु विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष हैं। वह तमिलनाडु के पूर्व डिप्टी सीएम रह चुके हैं। उनकी पत्नी का नाम दुर्गावथी है। अपने पीछे इतना बड़ा सियासी कुनबा छोड़ गए करुणानिधि तमिलनाडु की जनता के लिए भगवान से कम नहीं थे।

देखिए एम करुणानिधि का ये वीडियो…

Story Author: श्रेया दुबे

श्रेया दुबे
खबरें तो सब देते हैं, लेकिन तीखे खबरों को मजेदार अंदाज़ में आपतक पहुंचाना मुझे बहुत अच्छा लगता है। पिछले चार साल से पत्रकारिता के क्षेत्र में हूं। कुछ नया सीखने की कोशिश कर रही हूं। फिलहाल इंटरनेट को और एंटरटेनिंग बना रही हूं।

shreya.dubey@hindirush.com     +91 9552363723
601, ड्यूरोलाइट हाउस, न्यू लिंक रोड, अंधेरी वेस्ट,मुंबई, महाराष्ट्र, इंडिया- 400053
Tags:

Leave a Reply