SHOCKING! अजय देवगन नहीं काजल अग्रवाल की पहली बॉलीवुड फिल्म थी ऐश्वर्या राय बच्चन के साथ

बर्थडे पर जानें काजल अग्रवाल के बारे में दमदार बात

बर्थडे पर जानें काजल अग्रवाल के बारे में दमदार बात
बर्थडे पर जानें काजल अग्रवाल के बारे में दमदार बात

काजल अग्रवाल का जन्म 19 जून, 1985 को हुआ था| तो ऐसे में आज के दिन वो अपना जन्मदिन मना रहे हैं| आपको बता दें अधिकतर तेलगू फ़िल्मों में काम करने वाली एक्ट्रेस अब तमिल और हिन्दी सिनेमा में भी अपना डेब्यू कर चुकी है|सबसे पहले लोगों ने काजल को अजय देवगन के साथ आई फिल्म सिंघम में नोटिस किया था| हालाँकि आपको जानकर हैरानी होगी कि  काजल अग्रवाल ने बॉलीवुड मेंअपने अभिनय की शुरुआत हिन्दी फिल्म क्यों! हो गया ना… से शुरू की थी। इस फिल्म में उनके साथ अमिताभ बच्चन, ऐश्वर्या राय और विवेक ओबेरॉय जैसे कलाकर शामिल थे|  यह फिल्म 11 अगस्त 2004 को रिलीज़ हुई थी|

View this post on Instagram

#monochrome @throughlens_photography

A post shared by Kajal Aggarwal (@kajalaggarwalofficial) on

भले ही आपको जानकर हैरानी हो लेकिन काजल ने पहली बार 2004 में क्यों! हो गया ना… नाम की एक हिन्दी फिल्म में ऐश्वर्या राय बच्चन की बहन का किरदार किया था| वो इस फिल्म में दीया की बहन के रूप में एक छोटा सा किरदार निभाती हुई नज़र आयीं ही| इस फिल्म में उनके साथ अमिताभ बच्चन, ऐश्वर्या राय और विवेक ओबेरॉय भी मुख्य भूमिका में थे| उसके बाद तमिल फिल्म निर्देशक भारतीराजा के बोम्मलत्तम में अर्जुन सरजा के साथ उन्हें एक्टिंग करते हुए देखा गया था|हालाँकि यह फिल्म बहुत सालो बाद 2008 में सिनेमाघरों में रिलीज़ हुई थी|

काजल ने पहली बार तेलुगू फिल्म में अभिनय 2007 में तेजा की फिल्म लक्ष्मी कल्याणम में कल्याण राम के साथ मुख्य किरदार के रूप में कार्य किया था,लेकिन यह फिल्म बॉक्स ऑफिस में असफल रही। इसके अगले वर्ष में कृष्णा वाम्सि के द्वारा निर्देशित फिल्म ‘चन्दामामा’ में यह दिखाई दी। यह फिल्म सकारात्मक समीक्षा के साथ ही इनकी पहली सफल फिल्म बनी।

View this post on Instagram

@bibhumohapatra you ⭐️light ! #itsallaboutthedetails

A post shared by Kajal Aggarwal (@kajalaggarwalofficial) on

वर्ष 2008 में इनकी पहली तमिल फिल्म ‘पजनी’ भी प्रदर्शित हुई,जो पेरारसु द्वारा निर्देशित थी| जिसमें यह सह-कलाकार भरत के साथ दिखाई दी। इसी वर्ष इनकी दो और तमिल फिल्म भी प्रदर्शित हुईं। वेंकट प्रभु की कॉमेडी-थ्रिलर सरोज़ा में काजल ने अथिति भूमिका निभाई और भारतीराजा की फ़िल्म ‘बोम्मलत्तम’ में भी कार्य किया। यह दोनों ही फिल्म सफल रहीं लेकिन काजल के अभिनय के सफर को और आगे पहुँचाने में असफल रहीं क्योंकि दोनों ही फिल्मों में उनका किरदार कमजोर था। 2008 में रिलीज इनकी दो तेलुगु फिल्में ‘पौरुडू’ एवं ‘अट्टादिसता’ बॉक्स ऑफिस में सफल रहीं|

View this post on Instagram

#throwback

A post shared by Kajal Aggarwal (@kajalaggarwalofficial) on

इसके अलावा राम चरण के साथ मगधिरा नाम की फिल्म में उनकी एक्टिंग को सराहा गया था|

Leave a Reply