Exclusive Interview: जायरा वसीम, #MenToo, पंगा में कंगना संग काम करने पर ऋचा चड्ढा ने की खुलकर बात

ऋचा चड्ढा (Richa Chadha) ने हिंदी रश को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में अपनी आने वाली फिल्म के रिलीज़ से लेकर बॉलीवुड में चल रहे विवादित मुद्दों पर अपनी राय रखी है| यहां पढ़ें उनका ये इंटरव्यू

Author   |     |     |     |   Updated 
Exclusive Interview: जायरा वसीम, #MenToo, पंगा में कंगना संग काम करने पर ऋचा चड्ढा ने की खुलकर बात
ऋचा चड्ढा (Richa Chadha)

ऋचा चड्ढा (Richa Chadha) एक ऐसी एक्ट्रेस हैं जो अपने शानदार एक्टिंग की वजह से जानी जाती हैं| इसके अलावा वो कई मुद्दों पर खुलकर अपने विचारों को रखने के लिए मानी जाती हैं| हाल में ही ऋचा चड्ढा ने हिंदी रश को दिए इंटरव्यू में कई सारे मुद्दों पर बिंदास चर्चा की है| यहां पढ़ें ये इंटरव्यू-

सवाल: आप पंगा में काम कर रही हैं आपकी तैयारी कैसी चल रही है?

ऋचा चड्ढा: पंगा (Panga) फिल्म में मुझे एक कब्बड्डी प्लेयर का किरदार निभाना है जोकि भारत की तरफ से नेशनल और इंटरनेशनल कब्बड़ी खेल चुकी है| तो 2 से 3 महीने कबड्ड़ी की ट्रेनिंग, और काफ़ी सारी एक्सरसाइज़ करनी पड़ी जिम में खासकर जो आपकी टांगों को और मजबूत करे क्योंकि इतनी हिम्मत होनी चाहिए आपकी टांगों में कि आप किसी को उठाकर गिरा सकें| तो इस तरह से तैयारी थी और बाकी एक्सेंट का काम था यूपी -बिहार जैसा तो ये मुझसेआसानी से हो गया|

सवाल: कंगना के साथ काम करने का अनुभव कैसा रहा है?

ऋचा चड्ढा: कंगना (Kangana) अच्छी हैं, काफ़ी प्रोफेशनल हैं| उनके बहुत सारे आईडिया होते हैं| मुझे लगता है वो बहुत सिनेमैटिक हैं, उन्हें कैमरा , टेक्नीकल की बहुत समझ है तो अगर डायरेक्टर के साथ उनका मेल जोल हो जाए तो ये फायदे की बात है|

सवाल: शकीला आखिरकार अगस्त में रिलीज़ हो रही है, आप क्या कहेंगी?

ऋचा चड्ढा: हाँ ! शकीला (Shakeela) रिलीज़ हो रही है तो मुझे बहुत ख़ुशी हो रही है क्योंकि ये एक अनोखी फिल्म है मेरे लिए| मैंने कभी बायोपिक नहीं की है| ये एक ऐसी शख्सियत की कहानी है जो खुद अपने आप में विवादित रही हैं और जिनमें बहुत ही निडरता है जिससे मैं भी इत्तेफ़ाक़ रखती हूँ| तो मेरे लिए ये रोल करना एक अनोखा एक्सपेरिमेंट है| मुझे उम्मीद है कि लोगों को अच्छा लगेगा|

सवाल: #MeToo मूवमेंट की शुरुआत हुई है बॉलीवुड में इसपर आप क्या सोचती हैं?

ऋचा चड्ढा: देखिये, जो #MeToo Movement है वो हमारी इंडस्ट्री के लिए नयी बात नहीं है| शोषण होता रहा है जब कोई शक्तिशाली है तो वो कमज़ोर पर हावी होता है| ये शोषण चाहें सेक्सुअल हो चाहें ये पैसे को लेकर हो| तो ये जो कमज़ोर और शक्तिशाली लोग हैं इनका बैलेंस बहुत जरुरी है क्योंकि ये बहुत से लोगों की क्षमता को बाहर आने से रोकता है| पूरी दुनिया ने इस दिशा में कदम उठाये हैं| मुझे लगता है कि भारत को भी इस दिशा में अच्छे कदम उठाने चाहिए| बहुत से लोगों का कहना है कि मी टू मोमेंट इंडिया में फेल हो गया है या बॉलीवुड में फेल हो गया है मैं ये नहीं मानती हूँ| मुझे लगता है अभी तक हमने जो चीजें डिस्कस की है ये तो अभी सतह की चीजें हैं इसपर इन्वेस्टीगेशन होनी चाहिए इसपर डायलॉग होना चाहिए| हमें लोगों को इतनी हिम्मत देनी चाहिए कि अगर उनके साथ कुछ हुआ है तो वो बाहर आ कर बात कर सकें| एक यूनियन होनी चाहिए जो इन मुद्दों को उठाये जिसमें वकील भी हो, सायकायट्रिस्ट भी हों काउंसलर हों, प्रोड्यूसर्स हों, डायरेक्टर भी हों क्योंकि सच बात तो ये है कि अगर किसी भी जगह 50 % लोग सुरक्षित महसूस नहीं करते तो वो चीज़ कभी सफल हो ही नहीं सकती| अभी मैं एक लड़की हूँ इस स्टूडियो में अकेली हूँ अगर मुझे अपनी सेफ्टी का डर हो तो मैं ये इंटरव्यू भी नहीं कर सकती हूँ|

सवाल: #MenToo की शुरुआत भी हुई है इसपर आप क्या कहेंगी?

ऋचा चड्ढा: करण ओबेरॉय (Karan Oberoi), जिनकी वजह से #MenToo बना और लोग आगे आये मैं उनको जानती हूँ इनसाइड एज़ में मैंने उनके साथ काम किया है| मुझे पता है कि उनकी जो स्थिति थी वो स्टॉकर वाली थी | वो पहले ही इस बात को डिस्कस कर चुके हैं| तो किसी भी केस को फेस वैल्यू पर नहीं लेना चाहिए| जैसे कई बार रेप विक्टिम्स को न्याय नहीं मिलता वैसे ही कई बार लड़कों को झूठे केस में फंसाया जाता है| अगर हम बराबरी की बात करते हैं तो हमें दोनों पक्षों को सुनकर उसपर इन्वेस्टिगेशन करना चाहिए| क्योंकि हर झूठा केस पुलिस की एनर्जी और टाइम को बर्बाद करता है जिसके बाद वो एफआईआर लिखने से आनाकानी करते हैं| कई बार पॉवर और करप्शन की वजह से और कई बार इसलिए क्योंकि उन्हें लगता है कि केस सही नहीं है| तो जो सच्चे हैं उन्हें कभी न्याय नहीं मिलेगा जबतक झूठे केसेस को साइड नहीं करेंगे| तो हमें समाज की तरह इस विषय पर सोचना चाहिए|

सवाल: ज़ायरा वसीम ने बॉलीवुड छोड़ने का फैसला किया है इसपर आप क्या सोचती हैं?

ऋचा चड्ढा: मेरी सोच ये है कि मैं भी 17-18 सालों में हर रोज़ अपना दिमाग बदलती थी| अभी उनका एक और ट्वीट आया है कि उनका फेसबुक हैक हो गया था वो बॉलीवुड में काम करना चाहती हैं| तो मुझे लगता है इसे डिस्कस करना फ़ालतू है क्योंकि क्या फर्क पड़ता है जिसे जो करना है वो करे|

सवाल: मिर्ज़ापुर में अली फज़ल का देसी अवतार लोगों को बहुत पसंद आ रहा है? आप दूसरे सीज़न के लिए कितनी एक्साइटेड हैं?

ऋचा चड्ढा: मैं मिर्ज़ापुर (Mirzapur) में गुड्डू पंडित को देखने के लिए बहुत ही एक्साइटेड हूँ| क्योंकि अली (Ali Fazal) ने इस किरदार को निभाने के लिए बहुत मेहनत की है| लेकिन शो में बहुत हिंसा है तो मुझे लगता है कि पिछली बार की तरह मैं हिंसा वाले हिस्सों को फ़ास्ट फॉरवर्ड करके देखूंगी| उस शो के लिए मुझे अली पर बहुत गर्व है|

यहां देखिये ये वीडियो…

Exclusive News, TV News और Bhojpuri News in Hindi के लिए देखें HindiRush । देश और दुन‍िया की सभी खबरों की ताजा अपडेट के ल‍िए जुड़िए हमारे FACEBOOK पेज से ।

Story Author: श्रेया दुबे

श्रेया दुबे
खबरें तो सब देते हैं, लेकिन तीखे खबरों को मजेदार अंदाज़ में आपतक पहुंचाना मुझे बहुत अच्छा लगता है। पिछले चार साल से पत्रकारिता के क्षेत्र में हूं। कुछ नया सीखने की कोशिश कर रही हूं। फिलहाल इंटरनेट को और एंटरटेनिंग बना रही हूं।

shreya.dubey@hindirush.com     +91 9004241611
601, ड्यूरोलाइट हाउस, न्यू लिंक रोड, अंधेरी वेस्ट,मुंबई, महाराष्ट्र, इंडिया- 400053
Tags:

Leave a Reply