खेसारी लाल यादव बर्थडे: असली नहीं है इनका ये नाम, जानिए भोजपुरी के इस सुपरस्टार की जिंदगी की अनसुनी दास्तान

भोजपुरी के सुपरस्टार खेसारी लाल यादव के जन्मदिन पर जानिए उनके नाम का अर्थ, अभिनेता का असली नाम और आखिर क्यों बदला अपना नाम, अभिनेता बनने से पहले कौन सा करते थे काम। वो तमाम जानकारियां जो शायद आप नहीं जानते !

खेसारी लाल यादव की तस्वीर (फोटो इंस्टाग्राम)
खेसारी लाल यादव की तस्वीर (फोटो इंस्टाग्राम)

भोजपुरी के सुपरस्टार खेसारी लाल यादव का आज जन्मदिन है और वे 33 साल के हो गए हैं। गौरतलब है कि खेसारी लाल यादव को भोजपुरी इंडस्ट्री का पावर स्टार कहा जाता है, लेकिन इस मुकाम पर पहुंचना इतना आसान नहीं था। बड़ी मेहनत की है अभिनेता ने। आइए आपको खेसारी की जिंदगी से जुड़े कुछ अहम् किस्से बताते हैं। खेसारी लाल यादव का जन्म बिहार के रसूलपुर में हुआ। जब खेसारी पैदा होने वाले थे तो बारिश हो रही थी। इनका घर कच्चा यानि मिट्ठी था इसलिए पड़ोस के पक्के मकान में खेसारी लाल यादव का जन्म हुआ। खेसारी अपने तीन भाइयों में सबसे छोटे हैं और इनके परिवार में चाचा-चाची, उनके चार बेटे भी साथ रहते हैं।

बचपन से ही खेसारी यादव को पढ़ाई करने का कोई शौक नहीं था। खेसारी जब बड़े हुए तब वे अपने पिता के पास दिल्ली आ गए। खेसारी के पिता दिल्ली के ओखला के संजय कॉलोनी में रहते थे और रोजी-रोटी के लिए चने बेचा करते थे। खेसारी ने भी अपने पिता के साथ चने बेचना शुरू कर दिया। करीब दो साल तक खेसारी लाल यादव ने लिट्ठी चोखा बेचा। जबकि उनके पिता चाहते थे कि खेसारी लाल यादव सेना में भर्ती हो जाएं पर इनका सपना कुछ और ही था। मजे की बात ये है कि लिट्ठी चोखा से कमाए हुए पैसों से खेसारी लाल यादव अपने गानों की रिकॉर्डिंग कराया करते थे।

शत्रुघ्न कुमार यादव बने खेसारी लाल यादव 

आपको बता देते हैं कि खेसारी लाल यादव का असली नाम शत्रुघ्न कुमार यादव है। नाम बदलने के पीछे भी एक कहानी है। दरअसल बचपन से ही खेसारी को गाने और बजाने का बहुत शौक था। उनके गावं में एक गुरु थे जिनका नाम कमलाकांत मिश्र व्यास था। व्यास जी सभी को महाभारत और रामायण गाकर सुनाते थे। व्यास जी ने खेसारी यादव को भी अपनी टीम में ले लिया और उन्हें झाल बजाने का काम दे दिया। झाल बजाते- बजाते खेसारी यादव कोरस में भी गा लेते थे। यहां उन्होंने बहुत कुछ सीखा। चूकिं खेसारी लाल यादव बहुत बोलते थे और हाजिरजवाब थे इसलिए गुरु ने शत्रुघ्न कुमार यादव का नाम कारण करते हुए उन्हें खेसारी यादव का नाम दे दिया।

खेसारी लाल यादव के नाम का ये है मतलब 

जानकारी के मुताबिक़ खेसारी एक दहलन का नाम है। इसे जितना हो कम ही इस्तमाल किया जाता है। कहते हैं कि अगर खेसारी का एक भी दाना खेत में गिर जाए तो फसल से ज्यादा पसर जाता है।दुसरी फसलों से ज्यादा ही उग जाता है। देखिए ना आज वही हुआ है। अपने नाम के हिसाब से ही खेसारी भोजपुरी इंडस्ट्री में जैसे ही आए, वैसे ही पसर गए हैं। अब इन्हे हिलाना बहुत मुश्किल है।

नीचे देखिए भोजपुरी एक्ट्रेस अंजना सिंह का एक्सक्लूसिव वीडियो… 

Leave a Reply